ETV Bharat / state

Former JDU MLC Manorma Devi से 51 लाख की धोखाधड़ी करने वाला गिरफ्तार, हाउसिंग बोर्ड की जमीन दिखाकर ले लिए थे रुपए

author img

By ETV Bharat Bihar Team

Published : Oct 4, 2023, 10:18 PM IST

गया पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है. पुलिस ने 51 लाख की धोखाधड़ी मामले में एक शख्स को गिरफ्तार किया है. पूर्व एमएलसी से हुई चिटिंग मामले में यह दूसरी गिरफ्तारी है. पढ़ें पूरी खबर...

gaya Etv Bharat
gaya Etv Bharat

गया : बिहार की गया पुलिस ने जदयू की पूर्व एमएलसी मनोरमा देवी से 51 लाख की धोखाधड़ी करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार आरोपी पटना के बुद्धा कॉलोनी थाना अंतर्गत दूजरा पूर्वी गली का रहने वाला है, जिसका नाम विजय कुमार है. इसने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर हाउसिंग बोर्ड की जमीन को दिखाकर उस जमीन की बिक्री के नाम पर जदयू की पूर्व एमएलसी मनोरमा देवी से 51 लाख रुपए की धोखाधड़ी की थी.

ये भी पढ़ें - Jamui News: जमुई में पीसी ज्वेलर्स के मालिक की पत्नी गिरफ्तार, करोड़ों की धोखाधड़ी कर फरार थी

गया के रामपुर थाना में दर्ज की गई थी प्राथमिकी : रामपुर थाना में जदयू की पूर्व एमएलसी मनोरमा देवी के द्वारा कांड संख्या 605/22 दर्ज कराई गई थी. इस मामले में पटना के दुजरा पूर्वी गली के रहने वाले विजय कुमार एवं अन्य को आरोपित बनाया गया था. मामला 51 लाख रुपए की धोखाधड़ी से जुड़ा था. इस मामले में पुलिस की टीम ने काली मंदिर बांस घाट से एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपित का नाम विजय कुमार है, जो कि दूजरा पूर्वी गली पटना का रहने वाला है.

पूर्व में एक अभियुक्त की हो चुकी है गिरफ्तारी : विजय कुमार ने इस कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकारी है. गिरफ्तारी के बाद पुलिस मामले में आगे कार्रवाई कर रही है. वहीं इस मामले में पूर्व में भी एक आरोपित की गिरफ्तारी की जा चुकी है, जिसका नाम योगेंद्र यादव है. योगेंद्र यादव गया के कोच थाना अंतर्गत प्यारेचक गांव का रहने वाला है. इस तरह धोखाधड़ी के इस बड़े मामले में अब तक दो की गिरफ्तारी हो चुकी है एवं अन्य की तलाश में पुलिस की टीम छापेमारी कर रही है.

''51 लाख रुपए की धोखाधड़ी के मामले में पटना से विजय कुमार की गिरफ्तारी की गई है. जमीन के मामले में धोखाधड़ी की गई थी. पूर्व में भी एक को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही है.''- आशीष भारती, एसएसपी, गया

क्या है पूरा मामला : बताया जाता है कि 6 नवंबर 2022 को मनोरमा देवी के द्वारा एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. रामपुर थाने में दर्ज की कराई गई प्राथमिकी में कहा गया था कि पटना में जमीन खरीदने के नाम पर विजय कुमार एवं अन्य सहयोगियों के साथ 2 करोड़ 41 लाख 50 हजार में डील हुई थी. इसके लिए 30 लाख रुपए कैश और आरटीजीएस के माध्यम से 21 लाख रुपए दिए गए थे.

51 लाख की हुई थी धोखाधड़ी : वहीं, जिस जमीन पर डील हुई थी, उस जमीन की अपने स्तर से जांच की गई, तो सामने आया कि यह जमीन हाउसिंग बोर्ड की है. इसके बाद विजय कुमार एवं इसके अन्य सहयोगियों से पैसे वापस मांगे, तो इनकार कर गए. इसके बाद 51 लाख रुपए की धोखाधड़ी के मामले में विजय कुमार एवं अन्य के खिलाफ रामपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई थी. इस मामले को गया एसएसपी ने गंभीरता से लिया था और आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए निर्देश दिए गए थे.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.