Nitish Kumar : विधानसभा में ये क्या बोल गए नीतीश कुमार, जनसंख्या नियंत्रण पर CM का गजब का ज्ञान

author img

By ETV Bharat Hindi Desk

Published : Nov 7, 2023, 6:52 PM IST

Updated : Nov 7, 2023, 7:21 PM IST

Etv Bharat

सीएम नीतीश कुमार बिहार में जातियों का आर्थिक सर्वे रिपोर्ट पेश होने के बाद सदन के पटल पर सेक्स एजुकेशन पर ऐसा बेतुका ज्ञान दिया कि कुछ सदस्यों ने नजरें झुका लीं. सीएम के इस बेतुके बयान से बिहार में सियासी बवाल तय है.

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने नीतीश के बयान को बताया विवेकशून्य

पटना : बिहार में जनसंख्या पर कंट्रोल करने का बयान देते-देते सीएम नीतीश खुद ही कंट्रोल करना भूल गए. वो बात तो ठीक कह रहे थे लेकिन जिस तरीके से उन्होंने सदन में अपनी बात रखी उसपर विवाद होना तय है. हालांकि सीएम नीतीश का ये बयान सदन की प्रोसीडिंग का हिस्सा होने के बावजूद उसे सुना नहीं सकते. उन्होंने जो बातें कहीं उससे सदन में ठहाके भी लगे और कुछ लोग शर्मिंदगी से भर गए. केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने नीतीश के इस बयान का विरोध किया और उनसे इस्तीफे की डिमांड की.

सीएम नीतीश ने दिया बेतुका ज्ञान : सीएम नीतीश कह रहे थे कि "जब शादी होती है तो पुरूष रोज रात में.. उसी में बच्चा पैदा हो जाता है. लेकिन जब लड़की पढ़ी होगी तब कहेगी..." जब सीएम नीतीश जनसंख्या नियंत्रण पर बेतुका ज्ञान दे रहे थे तो पीछे बैठे मंत्री मुस्कुरा रहे थे. ठीक पीछे बैठे मंत्री श्रणव कुमार एकदम सीरियस मुद्रा में बैठे थे. नीतीश ने पत्रकारों से भी उनकी बात को ठीक से समझ लेने की सलाह दी.

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने मांगा इस्तीफा : सीएम नीतीश के इस बयान को अश्विनी चौबे ने विवेकशून्य बताया और कहा कि जब 'नाश मनुज पर छाता है पहले विवेक मर जाता है'. नीतीश की बुद्धि भ्रष्ट हो चुकी है. उन्होंने पूरी मातृशक्ति का अनादर किया है. उनको पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए.

बयान से पहले भी हो चुका है विवाद : जनसंख्या नियंत्रण पर सीएम नीतीश का कोई पहला बयान नहीं है. इसके पहले भी उन्होंने एक जनसभा में इस तरह का विवादित बयान दिया था. उस बयान पर भी बिहार में जोरदार हंगामा हुआ था. लेकिन पिछला वाला बयान इस बयान से ज्यादा ठीक ढंग से कहा गया था. लेकिन जिस तरीके से सीएम नीतीश ने सदन में जनसंख्या नियंत्रण पर बोलते-बोलते आउट ऑफ कंट्रोल हो गए उसने जरूर विवाद को जन्म दे दिया है.

"... कुछ लोग कहते हैं कि इस जाति की जनसंख्या बढ़ गई या घट गई लेकिन ये बताइए कि जब इससे पहले जाति आधारित जनगणना नहीं हुई है तो आप कैसे कह सकते हैं कि इस जाति की संख्या बढ़ गई या घट गई?... हम शुरूआत से केंद्र सरकार से कहते आए हैं कि वे भी जातिगत जनगणना करें... 2022-2021 में जो जनगणना होनी थी वो नहीं हुई तो जितना जल्दी हो सके शुरू करें."- नीतीश कुमार, मुख्यमंत्री, बिहार

ये भी पढ़ें-

Last Updated :Nov 7, 2023, 7:21 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.