ETV Bharat / state

दोगुनी होगी लीची की पैदावार, किसान हो जाएंगे मालामाल, उद्यान विभाग ने शोध के बाद खोजा खेती का नया तरीका - Kanpur CSA Litchi Research

author img

By ETV Bharat Uttar Pradesh Team

Published : May 19, 2024, 7:47 AM IST

Updated : May 19, 2024, 9:32 AM IST

कानपुर के चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि के उद्यान विभाग ने लीची की पैदावार को बढ़ाने के लिए खास शोध किया. इसे अपनाकर किसान फसल की कई समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं.

कुछ उपाय कर किसान पैदावार को दोगुना कर सकते हैं.
कुछ उपाय कर किसान पैदावार को दोगुना कर सकते हैं. (PHOTO Credit; Etv Bharat)

उद्यान विभाग ने लीची पर नया शोध किया है. (VIDEO Credit; Etv Bharat)

कानपुर : गर्मी के मौसम में तरबूज-खरबूजा जैसे फल मिठास देने के साथ ही आमजन को गर्मी से राहत देने का काम करते हैं. वहीं, फलों का राजा आम भी लोगों की पहली पसंद बना रहता है. इसी सीजन में सबसे अलग स्वाद वाली लीची भी बाजार में खूब बिकती है. उत्तर भारत में पिछले कुछ सालों से जो किसान लीची की खेती कर रहे हैं, उन्हें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था. ऐसे किसानों की दिक्कतों को दूर करने के लिए शहर के चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि (सीएसए) के उद्यान विभाग में शोध किया गया. इसके नतीजों पर अमल कर लीची की पैदावार को दोगुना किया जा सकता है.

उद्यान विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. वीके त्रिपाठी ने बताया कि कुछ बातों को ध्यान रखकर अच्छी पैदावार ली जा सकती है. अगर किसान पौधों पर सीधे पानी का छिड़काव करें और पौधों में नमी के लिए पुआल बिछा दें तो निश्चित तौर पर पेड़ लीची के फलों से लद जाएगा. परंपरागत खेती के अलावा किसानों को नई तकनीकों पर ध्यान देना चाहिए.

पि (ेप्ेप)

एक लीटर पानी में मिलाएं 40 ग्राम नेप्थिलिन एसिटिक एसिड : ईटीवी भारत से बातचीत में डॉ. वीके त्रिपाठी ने बताया कि किसान चाहें तो एक लीटर पानी में 40 ग्राम नेप्थिलिन एसिटिक एसिड व 4 ग्राम जिंक सल्फेट व 5 ग्राम बोरेक्स को मिलाकर भी पौधों पर छिड़काव कर सकते हैं. इससे फलों के फटने की जो समस्या रहती है, वह पूरी तरह से दूर हो जाएगी. फल आकार में बड़े होंगे. पौधे सूखेंगे भी नहीं.

देशभर के किसानों को भेजे जाएंगे लीची के पौधे : डॉ.वीके त्रिपाठी ने बताया कि सीएसए के गार्डन में लीची की कलकतिया, बेदाना समेत अन्य राज्यों में पाई जाने वाली प्रजातियों के पौधों को तैयार किया गया है. किसानों से लेकर आम जन तक इन पौधों को अपने यहां रोपित कर सकते हैं. लीची के फलों का स्वाद ले सकते हैं. उन्होंने बताया कि इस सीजन में देश के कई राज्यों में हम पौधे भेजेंगे.

यह भी पढ़ें : अनपढ़ पति और 8वीं पास पत्नी ने पढ़े-लिखों से वसूल लिए 8 लाख, 18 बेरोजगारों को थमा दिए फर्जी नियुक्ति पत्र, ऐसे हुआ खुलासा

Last Updated : May 19, 2024, 9:32 AM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.