'महादेव कसम हमको लगता था इ मंदिर कहिनो नहीं बनेगा', लेखक प्रभात बांधूल्य ने की पीएम मोदी की प्रशंसा

author img

By ETV Bharat Bihar Desk

Published : Jan 20, 2024, 7:55 PM IST

लेखक प्रभात बांधूल्य ने की पीएम मोदी की प्रशंसा

Ram Mandir: ज्वलंद मुद्दों पर अपनी लेखनी से कटाक्ष करने वाले बिहार के युवा लेखक प्रभात बांधूल्य ने एक पत्र लिखा है. लेकिन इस पत्र के जरिए उन्होंने कोई तंज नहीं किया है बल्कि राम मंदिर को लेकर पीएम मोदी की जमकर तारीफ की.

लेखक प्रभात बांधूल्य ने की पीएम मोदी की प्रशंसा

पटना: 22 जनवरी को अयोध्या राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम है. इसको लेकर पूरे देश भर में उत्सवी माहौल है. प्राण प्रतिष्ठा समारोह में पीएम नरेंद्र मोदी भी मौजूद रहेंगे और प्रभु श्री राम की उत्सव मूर्ति की सबसे पहले वही दर्शन करेंगे. इसको लेकर जहां विपक्ष हमला कर रहा है तो वहीं बिहार के युवा लेखक प्रभात बांधूल्य ने भी पीएम मोदी को एक पत्र लिखा है.

प्रभात बांधूल्य का पीएम मोदी को लेटर: प्रभात बांधूल्य ने लिखा है कि प्रिय प्रधानमंत्री, मोदी जी! हम माता जानकी की भूमि "बिहार" से चिठ्ठी लिख रहे हैं. हम आपको आज तक वोट नहीं दिए हैं. आपका हर मोर्चे पर विरोध किया है. महादेव कसम हमको लगता था इ मंदिर कहिनो नहीं बनेगा, लेकिन अब जब देख रहे हैं सिया का ससुराल सच धज के तैयार है.

'बिहार आइए तो मुलाकात होगी': आगे उन्होंने लेटर में लिखा है कि तो मन गदगद है. बेटियां जब ब्याही जाती तो वर देखा जाता है, साथ साथ कुल उनका और घर देखा जाता है. अपने बिटिया 'सिता' का ससुराल (घर) सजता देख, हम अपना मन बदल दिए हैं. बिहार आइए तो मुलाकात होगी और 2024 में मेरा साथ भी, आपके इस काम की वजह से पहली बार मैं आपके पक्ष में वोट करूंगा. भर झोला बधाई! जय श्री राम

लेखक प्रभात बांधूल्य ने की पीएम मोदी की प्रशंसा
लेखक प्रभात बांधूल्य ने की पीएम मोदी की प्रशंसा

जीवंत मुद्दे पर लिखते हैं प्रभात: टीवी सीरियल कुंडली भाग्य के स्क्रीन प्ले राइटिंग और शॉर्ट फिल्म फिक्स्ड डेट से सुर्खियों में आए लेखक प्रभात बांधुल्य बिहार के हर जीवंत मुद्दे पर लिखते रहते हैं. हाल ही में उन्होंने एक कविता लिखी थी और बताया था कि भगवान राम को जिसने जैसा समझा भगवान राम उसको उसी रूप में मिले.

इस कविता में उन्होंने बिहारी होने के नाते भगवान राम के ससुराल पक्ष की ओर से राम का बखान किया है. राम का वर्णन किया है कि एक पुरुष होते हुए राम जिस कदर मर्यादित जीवन जिएं वह उन्हें मर्यादा पुरुषोत्तम बनता है.

पढ़ें- Bihar caste Survey Report : कवि ने कविता के माध्यम से दी प्रतिक्रिया..कहा- 'राजगद्दी के अलावा राजा की दूसरी कोई जाति नहीं'

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.