उत्तर रेलवे के 68वें रेल सप्ताह समारोह में 100 कर्मचारियों को किया गया सम्मानित, महाप्रबंधक ने गिनाई उपलब्धियां

author img

By ETV Bharat Delhi Desk

Published : Feb 9, 2024, 12:54 PM IST

उत्तर रेलवे के 68वें रेल सप्ताह समारोह का आयोजन

68th Rail Week celebration: उत्तर रेलवे ने 68वें रेल सप्ताह समारोह का आयोजन किया. इस मौके पर चाणक्यपुरी स्थित राष्ट्रीय रेल संग्रहालय में 100 कर्मचारियों को सम्मानित किया गया.

68वें रेल सप्ताह समारोह का आयोजन

नई दिल्लीः हर साल बोरीबंदर और ठाणे के बीच पहली रेलगाड़ी चलने की स्मृति में भारतीय रेल सप्ताह का आयोजन किया जाता है. इसके तहत उत्तर रेलवे की ओर से 68वें रेल सप्ताह समारोह का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में उत्तर रेलवे के 100 कर्मचारियों और अधिकारियों को उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए दिल्ली के चाणक्यपुरी स्थित राष्ट्रीय रेल संग्रहालय में पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया. साथ ही विभिन्न रेल मंडलों को उनके बेहतर कार्य के लिए शील्ड प्रदान की गई.

कार्यक्रम में उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक शोभन चौधुरी ने वर्ष 2023 में रेलवे की उपलब्धियों को गिनाया. साथ ही उन्होंने रेलवे अधिकारियों और कर्मचारियों को रेलवे की प्रगति के लिए कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया. कार्यक्रम में उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक शोभन चौधुरी ने उत्तर रेलवे के विभिन्न मंडल के 100 कर्मचारियों और अधिकारियों को उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया.

कार्य निष्पादन मानकों के आधार पर महाप्रबंधक द्वारा 54 रनिंग शील्ड भी प्रदान की गईं. रेलवे के फिरोजपुर मंडल को मितव्ययिता शील्ड प्रदान की गई. वहीं बेस्ट इम्प्रूव्ड डिवीजन शील्ड मुरादाबाद मंडल को मिली. महाप्रबंधक उत्कृष्टता शील्ड अंबाला मंडल को मिली. इसपर महाप्रबंधक शोभन चौधुरी ने कहा कि 2023 में उत्तर रेलवे ने 35 मिलियन टन कार्गो लदान से 7,869 करोड़ रुपए अर्जित की. वहीं पार्सल और माल लदान से 349 करोड़ रुपए अर्जित कर सभी क्षेत्रीय रेल में पहला स्थान प्राप्त किया.

उन्होंने बताया कि दीपावली और छठ पूजा पर्वों के दौरान 266 विशेष रेलगाड़ियां चलाई गईं. 510 रेलगाड़ियों की यात्री वहन क्षमता बढ़ाई गई. वहीं उत्तर रेलवे के 126 रेलवे स्टेशनों पर एक स्टेशन एक उत्पाद योजना लागू की गई है, जिसमें 1,582 लाभार्थियों ने कुल मिलाकर 04.39 करोड़ रुपए अर्जित किए. साथ ही उत्तर रेलवे 95 प्रतिशत रेलमार्ग विद्युतीकृत हो गया है. और तो और 19 जोड़ी रेलगाड़ियों को डीजल से विद्युतीकृत करके हाईस्पीड डीजल की बचत की गई, जिससे 23 करोड़ रुपए की बचत हुई है.

इसके साथ ही दिल्ली-मुम्बई और नई दिल्ली-कोलकाता रेलमार्ग पर रेलगाड़ियों की गतिसीमा 160 किलोमीटर प्रतिघंटा तक बढ़ाने के लिए काम किया जा रहा है. उधर तीन गतिशक्ति कार्गोटर्मिनल बनकर तैयार हो गए हैं और 68 किलोमीटर लंबी रोहतक-माहिम नई रेल लाइन को रेल संरक्षा आयुक्त की स्वीकृति मिलने के बाद यातायात के लिए खोल दिया गया है.

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी मार्च में करेंगे हैदराबाद का दौरा, राष्ट्र को करेंगे समर्पित चेरलापल्ली रेलवे टर्मिनल

उन्होंने आगे बताया कि बनिहाल और श्री माता वैष्णो देवी कटरा के बीच सभी 7 स्टेशन बनकर तैयार हो गए हैं. साथ ही ऊधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक परियोजना के अंतर्गत इस सेक्शन का शेष काम तीव्र गति से चल रहा है. इस साल के मध्य तक इस रूट पर ट्रेन का संचालन शुरू हो सकता है. कार्यक्रम में उत्तर रेलवे के अपर महाप्रबंधक अजय कुमार सिंघल, विभिन्न विभागों के प्रमुख विभागाध्यक्ष और अन्य वरिष्ठ अधिकारी, उत्तर रेलवे के कर्मचारी, विभिन्न यूनियन, एसोसिएशन और फेडरेशन के सदस्य, उत्तर रेलवे महिला कल्याण संगठन की अध्यक्ष सन्नीरति चौधरी आदि उपस्थित रहीं.

ये भी पढ़ें: रेलवे ने स्थगित किया ट्रैफिक ब्लॉक कर काम करने का निर्णय, ट्रेनें नहीं की जाएंगी रद्द

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.