ETV Bharat / state

सड़क नहीं तो वोट नहीं : जबलपुर के रमनगरा में ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट घेरा, चुनाव  बहिष्कार की चेतावनी - jabalpur boycotted election

author img

By ETV Bharat Madhya Pradesh Team

Published : Apr 13, 2024, 5:54 PM IST

जबलपुर जिले के तिलवारा घाट के पास स्थित रमनगरा के ग्रामीणों ने लोकसभा चुनाव का बहिष्कार कर दिया है. ग्रामीणों का आरोप है कि अधूरी सड़क की वजह से गई एक दिन पहले दो बच्चों की जान गई है. ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट का घेराव किया और चुनाव बहिष्कार की घोषणा की.

jabalpur Ramanagara villagers boycotted Lok Sabha election
जबलपुर के रमनगरा के ग्रामीणों ने किया लोकसभा चुनाव का बहिष्कार

जबलपुर। लोकसभा चुनाव की वोटिंग से पहले जबलपुर के तिलवारा घाट के पास रमनगरा गांव के लोगों ने चुनाव बहिष्कार की घोषणा कर दी. दरअसल, इस गांव की महत्वपूर्ण सड़क है जो तीन गांवों को जोड़ती है, वह बीते विधानसभा चुनाव के पहले से अधूरी पड़ी है. एक दिन पहले यहां एक्सीडेंट में गांव के दो बच्चों की जान चली गई. इसलिए गांव के लोगों ने फैसला किया है कि सड़क नहीं तो वोट नहीं. लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करेंगे.

अधूरी सड़क की वजह से गईं दो जानें

जबलपुर की तिलवारा घाट में अनियंत्रित ट्रैक्टर ने दो नाबालिग बच्चों की जान ले ली. दोनों ही बच्चे स्कूल से घर लौट रहे थे. इस गांव में मातम पसरा है. वहीं गांव के सैकड़ों लोगों ने शनिवार को जबलपुर कलेक्टरेट का घेराव किया. मनगरा गांव के निवासी संतोष कुमार उपाध्याय ने बताया "जिस सड़क पर एक्सीडेंट हुआ है, उस सड़क के ठीक सामने रमनगरा गांव के लिए सड़क जाती है. यह सड़क आगे तीन गांव के लिए और जाती है. लेकिन इस सड़क का निर्माण कार्य नहीं किया जा रहा है. जबकि यह सीधे हाईवे में मिलती है तो वहां एक ब्लैक स्पॉट बनता है, जिस पर आए दिन एक्सीडेंट होते हैं."

ये खबरें भी पढ़ें...

मंडला में सीएम की सभा में डैम प्रभावित ग्रामीणों ने दी चेतावनी, विस्थापन नहीं किया तो चुनाव का बहिष्कार

मंडला के बिरसा ग्राम में ग्रामीणों की जमीन अधिग्रहण, जल सत्याग्रह कर चुनाव का बहिष्कार करेंगे लोग

विधानसभा चुनाव के दौरान किया था वादा, नहीं निभाया

जब गांव की सड़क से लोग हाईवे पर आते हैं तो कोई साइन बोर्ड नहीं है कि आगे गांव का रास्ता है. कच्ची सड़क होने की वजह से ड्राइवर को यह भी समझ में नहीं आता कि यहां से किसी का आवागमन भी है. लिहाजा जैसे ही कोई गांव से सड़क पर आता है तो तेज रफ्तार गाड़ियों से उसका एक्सीडेंट हो जाता है. यह कोई पहला मामला नहीं है. ऐसी घटनाएं वहां आए दिन घटती हैं. संतोष उपाध्याय का कहना है "विधानसभा चुनाव में उनसे वादा किया गया था कि चुनाव खत्म होंगे और सड़क बना दी जाएगी लेकिन चुनाव खत्म हो गए और सड़क पर काम नहीं लगा. अब यह दूसरे चुनाव शुरू हो गए हैं. उन्होंने जब जिम्मेदार अधिकारियों से बात की तो बताया गया कि चुनाव चल रहे हैं. चुनाव खत्म होते ही सड़क बना दी जाएगी."

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.