नाबालिग से लेकर बुजुर्ग तक कर रहे नौकरी की तलाश, कई इंटरव्यू भी देने नहीं आते, जानिए क्या है वजह

author img

By ETV Bharat Uttar Pradesh Team

Published : Feb 23, 2024, 7:29 AM IST

िे्प

प्रयागराज में नाबालिग से लेक बुजुर्ग तक को नौकरी (Prayagraj Unemployment Registration) की तलाश है. इसके लिए उन्होंने क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय में पंजीकरण भी करा रखे हैं.

Prayagraj Unemployment Registration

प्रयागराज : संगम नगरी में बेरोजगारी से लोग परेशान हैं. यहां नाबालिग से लेकर बुजुर्ग तक नौकरी पाने के लिए क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय में रजिस्ट्रेशन करवा रहे हैं. जिले में रजिस्टर्ड बेरोजगारों की संख्या 1 लाख 72 हजार 787 है. इसमें नाबालिग से लेकर 59 साल तक के भी बेरोजगार शामिल हैं.

क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय में रजिस्टर्ड बेरोजगारों की संख्या 1 लाख 72 हजार 787 है. इसमें 18 साल से कम आयु वाले 4 हजार 904 शामिल हैं. 50 साल से 59 साल के आयु वाले रजिस्टर्ड बेरोजगारों की संख्या 317 है. इसमें महिला और पुरुष दोनों वर्ग के बेरोजगार शामिल हैं. इसी तरह से 18 से 19 साल के बेरोजगारों की संख्या 23 हजार 299 है.

इतनी संख्या में लोगों ने करवाए हैं पंजीकरण : 20 से 29 साल के उम्र के बेरोजगारों की संख्या 67 हजार 539 है. 30 से 39 साल की उम्र के बेरोजगारों की संख्या 71 हजार 625 है. 40 से 49 साल की आयु के बेरोजगारों की संख्या भी 5 हजार 103 है. संगम नगरी प्रयागराज में बेरोजगारी का आलम यह है कि नाबालिग से लेकर बुजुर्ग भी नौकरी की तलाश में हैं.

जिले के क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय में काफी संख्या में बेरोजगारों ने रजिस्ट्रेशन करवा रखे हैं. जानकार यह भी बताते हैं कि तमाम ऐसे लोग भी इनमें शामिल हैं जिन्हें नौकरी की जरूरत नहीं है, वो सिर्फ बेरोजगारों के लिए आने वाली किसी भी योजना का लाभ हासिल करने के लिए ही रजिस्ट्रेशन करवाए हुए हैं.

रोजगार मेले के जरिए मिल रही नौकरी : जिले में क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय की ओर से साल 2023 से 2024 तक 39 रोजगार मेले का आयोजन किया गया है. इन रोजगार मेलों में कुल 11 हजार 649 बेरोजागर शामिल हुए. इसमें 5 हजार 530 बेरोजगारों को नौकरी मिल चुकी है.

क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय के उप निदेशक रत्नाकर अस्थाना ने बताया कि उनके कार्यालय की तरफ से लगातार रोजगार मेले का आयोजन करके युवाओं को नौकरी दिलवाने के काम किया जा रहा है. 39 रोजगार मेले में शामिल होने वाले 11 हजार 649 बेरोजगारों ने इंटरव्यू दिया. लगभग आधी संख्या के बराबर 5 हजार 530 बेरोजगारों को नौकरी मिल चुकी है. पंजीकरण करवाने वालों में ऐसे लोग भी शामिल हैं जो मेले में इंटरव्यू देने कभी नहीं आते हैं, उन्होंने किसी योजना का लाभ पाने के लिए ऐसा कर रखा है.

इस वजह से जरूरी है रजिस्ट्रेशन : क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय के उप निदेशक रत्नाकर अस्थाना ने यह भी बताया कि इन दिनों आउट सोर्सिंग के जरिए मिलने वाली नौकरी में क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय में रजिस्ट्रेशन करवाना आवश्यक है. जिस कारण युवा बड़ी संख्या में क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय में पंजीकरण करवा रहे हैं. आउट सोर्सिंग के जरिए नौकरी पर रखने से पहले बेरोजागर युवाओं से रोजगार कार्यालय में करवाए गए पंजीकरण की संख्या देना अनिवार्य हो गया है.

यह भी पढ़ें : रायबरेली में युवक का सिर फोड़ा; डंडे से पीटा, महिलाओं से की अभद्रता, देखें VIDEO

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.