पलामू में सीएम चंपई सोरेन ने किया पाइपलाइन प्रोजेक्ट का शिलान्यास, केंद्र सरकार पर हेमंत सोरेन को परेशान करने का लगाया आरोप

author img

By ETV Bharat Jharkhand Team

Published : Feb 10, 2024, 2:25 PM IST

Son Koel Auranga pipeline project

Son Koel Auranga pipeline project in Palamu. पलामू में पाइपलाइन प्रोजेक्ट का शिलान्यास करने पहुंचे सीएम चंपई सोरेन ने कहा कि युवा सम्राट हेमंत सोरेन को परेशान किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि 2027 तक राज्य के सभी लोगों को पक्का घर उपलब्ध करा दिया जाएगा.

सीएम चंपई सोरेन का संबोधन

पलामू: गांव और शहर के बीच की दूरी खत्म होगी, 2027 तक झारखंड के सभी घर पक्के हो जायेंगे. आवास के नाम पर केंद्र सरकार ने धोखा दिया है और युवा सम्राट हेमंत सोरेन को परेशान किया जा रहा है. ये बातें झारखंड के सीएम चंपई सोरेन ने पलामू में कही. सीएम चंपई सोरेन पलामू में सोन कोयल औरंगा पाइपलाइन परियोजना का शिलान्यास करने पहुंचे थे. अपने संबोधन के दौरान सीएम चंपई सोरेन ने कहा कि पाइपलाइन परियोजना महत्वपूर्ण है, इससे वर्षों से सूखे की मार झेल रहे छोटे-बड़े किसानों को राहत मिलेगी. यह परियोजना बांध में पानी की कमी को दूर करेगी. खेत होते हुए भी उपज नहीं होती थी, अब वहां उपज होगी.

हेमंत सोरेन सरकार ने किए ऐतिहासिक काम-सीएम

सीएम ने कहा कि हेमंत सोरेन की सरकार ने कई ऐतिहासिक काम किये हैं, कोरोना में दो साल गुजर गये. लेकिन कोरोना काल में भी हेमंत सोरेन ने बेहतर काम किया है. सरकार ने उस दौरान किसी को निराश नहीं होने दिया. वहीं उन्होंने कहा कि भाजपा ने राज्य को बर्बाद कर दिया, सामाजिक और आर्थिक व्यवस्था पर कोई ध्यान नहीं दिया गया. उन्होंने कहा कि इलाके में कोयल सोन जैसी नदियां हैं, सोन का पानी ऐसे ही बहता है. सरकार ने किसानों के खेतों तक पानी पहुंचाने की योजना तैयार की है. पलामू क्षेत्र सूखे से पीड़ित न हो, इसके लिए यह परियोजना शुरू की गयी है.

सीएम चंपई सोरेन ने कहा कि केंद्र सरकार सोचती है कि सबको घर देगी और खूब प्रचार करती है, लेकिन झारखंड को धोखा दिया गया है. जब भारत सरकार ने आठ लाख लोगों को आवास नहीं दिया तो झारखंड सरकार द्वारा अबुआ आवास योजना शुरू की गयी. 2027 तक झारखंड के सभी घर पक्के हो जायेंगे. उन्होंने कहा कि झारखंड खनिज संपदा से भरपूर है, लेकिन आदिवासियों को कोई फायदा नहीं हुआ. यहां के लोगों को उनकी मूल संपत्ति से दूर रखा गया है, ग्रामीण इलाकों की हालत दयनीय है.

मंडल डैम बन गया है कमंडल-मंत्री

मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने कहा कि पाइपलाइन परियोजना से क्षेत्र के लोगों को सूखे से राहत मिलेगी. वहीं उन्होंने मंडल डैम को लेकर कहा कि मंडल डैम कमंडल बन गया है. चुनाव में घोषणाएं तो होती है लेकिन पूरी नहीं होती, मंडल इसका उदाहरण है. उन्होंने कहा कि सोन कोयल औरंगा परियोजना से सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी, इससे किसानों को काफी लाभ होगा. हमारी सरकार ने बोलकर नहीं, करके दिखाया है. पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने पाइपलाइन प्रोजेक्ट को मंजूरी दी थी. जिसे पूरा किया जा रहा है.

विधायक ने कहा- सीएम को फंसाया गया

विधायक मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि पाइपलाइन परियोजना ऐतिहासिक है. इससे काफी लोगों को फायदा होगा. वहीं उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम हेमंत सोरेन को फंसाया गया है और प्रताड़ित किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि हमें दिशोम गुरु और हेमंत सोरेन के सपनों को पूरा करना है. विपरीत परिस्थितियों के बावजूद भी सरकार लोगों के लिए कल्याणकारी कार्य कर रही है. चार साल का काम 19 साल पर भारी पड़ेगा. विधायक रामचन्द्र सिंह ने कहा कि यह क्षेत्र सूखे से जूझ रहा है, सिंचाई परियोजना से समस्या दूर हो जायेगी. अगले कुछ वर्षों में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो जायेगी. इस दौरान सीएम के प्रधान सचिव विनय चौबे, पलामू कमिश्नर, जल संसाधन विभाग के सचिव प्रशांत कुमार, आईजी राजकुमार लकड़ा, डीसी शशि रंजन, एसपी रिश्मा रमेशन समेत कई अधिकारी मौजूद थे.

यह भी पढ़ें: सोन-कोयल-औरंगा पाइपलाइन परियोजना की आधारशिला रखेंगे मुख्यमंत्री चंपई सोरेन, 436 करोड़ रुपए से पूरा होगा प्रोजेक्ट

यह भी पढ़ें: कोयल, औरंगा और सोन नदी से पलामू के जलाशयों की प्यास बुझाने की योजना तैयार, 900 करोड़ रुपए होंगे खर्च

यह भी पढ़ें: सोन-कोयल-औरंगा पाइप लाइन परियोजना आखिर कब होगी शुरू, चार साल बाद भी केंद्र सरकार के पास नहीं पहुंचा प्रस्ताव

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.