सावधानी से करें प्यूबिक हेयर रिमूवल, जानें क्या कहते हैं विशेषज्ञ

author img

By ETV Bharat Hindi Team

Published : Feb 26, 2024, 12:22 PM IST

सावधानी से करें प्यूबिक हेयर रिमूवल

Pubic Hair Removal : प्यूबिक हेयर यानी यौन अंगों के आसपास के बाल हटाने के लिए विशेष तौर पर महिलाएं कई तरह की प्रक्रिया अपनाती है. चिकित्सक कहते हैं कि प्यूबिक हेयर हटाने के लिए ट्रिमिंग, शेविंग या वैक्स , चाहे किसी भी प्रक्रिया को अपनाया जाए लेकिन सभी में सुरक्षा व सावधानी का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है. अन्यथा यह कुछ अन्य समस्याओं के होने का कारण भी बन सकती हैं. पढ़ें पूरी खबर..

हैदराबाद : इंटिमेट हाइजीन या यौन अंगों में साफ सफाई का ध्यान रखना ना सिर्फ महिलाओं के लिए बल्कि पुरुषों के लिए भी बहुत जरूरी माना जाता है. चिकित्सकों के अनुसार प्यूबिक एरिया(यौन अंग का वह हिस्सा जहां बाल होते हैं) में हाइजीन का ध्यान रखने से कई तरह के संक्रमणों व एलर्जी से बचा जा सकता है. इंटिमेट हाइजीन बनाए रखने के लिए तथा कुछ अन्य कारणों से भी बहुत से लोग विशेषकर महिलाएं अलग-अलग तरह से प्यूबिक हेयर को हटाते है जैसे शेव, वैक्स या केमिकल अथवा हर्बल रिमूवर का इस्तेमाल. वहीं कई महिलायें और पुरुष इन बालों को हटाने या कम करने के लिए कैंची से प्यूबिक हेयर की ट्रिमिंग भी करते हैं. चिकित्सकों का कहना है कि प्यूबिक हेयर को हटाने के लिए की जा रही किसी भी प्रक्रिया में सुरक्षा व सावधानी का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है अन्यथा यह कभी-कभी कम या ज्यादा गंभीर समस्याओं या संक्रमणों के होने का कारण भी बन सकती हैं.

क्या कहते हैं चिकित्सक
उत्तराखंड की महिला रोग विशेषज्ञ डॉ विजयलक्ष्मी बताती हैं कि हमारे जननांग तथा उनके आसपास का हिस्सा बेहद संवेदनशील व नाजुक होता है. हालांकि महिलाओं व पुरुषों दोनों में प्‍यूबिक हेयर यौन अंगों को जीवाणु, संक्रमण तथा घर्षण से सुरक्षित रखने का कार्य करते हैं, लेकिन विशेषकर महिलाओं में यदि प्‍यूबिक हेयर बहुत ज्यादा हो और महिला इस क्षेत्र की सफाई का ज्यादा ध्यान ना रखती हो, तो यह कई प्रकार की कम या ज्यादा गंभीर समस्याओं का कारण बन सकता है.

वह बताती हैं कि दरअसल प्‍यूबिक एरिया हमेशा ढका हुआ होता है और वहां सीधे हवा नहीं पहुंचती हैं. ऐसे में अगर बाल ज्यादा हो तो कभी ज्यादा पसीने के कारण तो कभी नहाने के बाद प्‍यूबिक एरिया के पूरी तरह से ना सूखने के कारण उस हिस्से में नमी बनी रहती है. जो कभी-कभी बालों में गंदगी एकत्रित होने का कारण भी बनने लगती है. ऐसे में कई बार संक्रमण या एलर्जी के होने तथा उसके योनि तक पहुंचने की आशंका हो सकती है. वहीं महिलाओं में माहवारी व ज्यादा डिस्चार्ज के दौरान प्‍यूबिक एरिया में अधिक बाल होने से भी हाइजीन प्रभावित हो सकता है. वह बताती हैं कि हाइजीन के अलावा बहुत सी महिलायें व लड़कियां बिकनी या स्विमिंग कॉस्टयूम पहनने, सेल्फ केयर के लिए तो कभी बेहतर सेक्स के लिए प्यूबिक हेयर को हटाने के लिए वैक्स, शेव या अन्य प्रक्रियाओं की मदद लेती हैं.

कौन सी समस्याएं कर सकती हैं परेशान
डॉ विजयलक्ष्मी बताती हैं कि जो महिलाएं प्यूबिक हेयर हटाने के लिए वैक्स (बिकनी वैक्स) करवाती हैं उन्हे यह प्रक्रिया हमेशा किसी प्रशिक्षित प्रोफेशनल से ही करवानी चाहिए. प्यूबिक हेयर वैक्स करवाने के दौरान सुरक्षा व हाइजीन का ध्यान ना रखना कई बार खुजली, सामान्य संक्रमण/ बैक्टीरियल इन्फेक्शन, रैश या किसी एलर्जी के ट्रिगर होने का कारण बन सकता है. वहीं ऐसी महिलायें जिनकी त्वचा बहुत ज्यादा संवेदनशील है उनमें वैक्स करवाने के लंबे समय बाद तक दर्द, त्वचा में जख्म होने या जलन जैसी समस्या भी महसूस हो सकती है.

वहीं यदि प्यूबिक हेयर को शेव किया जा रहा हो तो भी इस प्रक्रिया में सावधानी व सुरक्षा का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है. जैसे कई बार शेव करने के बाद जब दोबारा बाल आने शुरू होते हैं तो बालों के उगने के स्थान पर दाने ( कभी-कभी पानी वाले दाने भी) हो सकते हैं. जिससे इन स्थानों पर खुजली, रैश व जलन बढ़ जाती है. इसके अलावा कई बार शेविंग का दौरान त्वचा पर कट भी लग सकता है जो कुछ अन्य समस्याओं को आमंत्रित कर सकता है.

वह बताती हैं कि प्यूबिक हेयर को हटाने के लिए केमिकल युक्त हेयर रिमूवल क्रीम के इस्तेमाल से बिल्कुल बचना चाहिए. दरअसल इसमें मौजूद रसायन ना सिर्फ त्वचा बल्कि यौन अंग के स्वास्थ्य व प्रजनन स्वास्थ्य को भी गंभीर नुकसान पहुंचा सकते हैं.

वह बताती हैं शेविंग हो या वैक्स , यदि इन प्रक्रियाओं में सावधानी व सुरक्षा का ध्यान ना रखा जाए, साथ ही इन प्रक्रियाओं को करने के बाद जरूरी देखभाल का ध्यान ना रखा जाय तो यह कई बार महिलाओं में यूरीनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन , बैक्टीरियल इंफेक्शन तथा यौन संचारित संक्रमण का कारण भी बन सकते हैं.

सावधानी
डॉ विजयलक्ष्मी बताती हैं कि यौन अंगों की सेहत से नजरिए से सावधानी से कैंची की मदद से प्यूबिक हेयर की ट्रिमिंग अपेक्षाकृत सुरक्षित तरीका हो सकता है. बशर्ते जिस कैंची से बालों की ट्रिमिंग की जा रही है उसे हर बार इस्तेमाल से पहले व बाद में डिसइनफेक्टेड किया गया हो. उस कैंची का इस्तेमाल किसी और कार्य के लिए नहीं करना चाहिए. इसके अलावा यदि प्यूबिक हेयर को शेव किया जा रहा है तो रेजर को भी हर बार इस्तेमाल से पहले और बाद में डिसइनफेक्टेड करना जरूरी होता है. वहीं कभी भी इसके लिए पुराने रेजर को इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. पुराने रेजर में बाल कटने की बजाय फंस भी सकते हैं जो बाल तोड़ का कारण बन सकते हैं.

वह बताती हैं कि इंटिमेट हाइजीन सिर्फ प्यूबिक हेयर को हटाने तक ही सीमित नहीं है. इसके बाद भी यौन अंगों को साफ व सूखा रखना बहुत जरूरी होता है. इसके लिए प्यूबिक एरिया को हमेशा बिना खुशबू वाले व कम रसायन वाले साबुन से साफ रखना चाहिए. इसके अलावा इस स्थान की जरूरी नमी बनाए रखने के लिए प्यूबिक एरिया को धोने व सुखाने के बाद वहां बिना खुशबू वाले हल्के मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करना चाहिए. वहीं यदि इस स्थान पर पसीना ज्यादा आता हो तो बिना खुशबू वाले पाउडर का भी इस्तेमाल किया जा सकता है. डॉ विजयलक्ष्मी बताती हैं कि यौन अंगों में किसी भी प्रकार सी असहजता व समस्या को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और जरूरत पड़ने पर चिकित्सक की मदद जरूर लेनी चाहिए.

ये भी पढ़ें

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.