ETV Bharat / bharat

जानें क्यों मनाया जाता है विश्व सौंटरिंग दिवस, हमारे जीवन में क्या है इसका महत्व - World Sauntering Day

author img

By ETV Bharat Hindi Team

Published : Jun 19, 2024, 12:11 AM IST

विश्व सौंटरिंग दिवस 2024: आज दुनिया भर में विश्व सौंटरिंग दिवस मनाया जा रहा है. यह दिवस हमारे जीवन में कई मायने में महत्वपूर्ण है. पढ़ें पूरी खबर...

World Sauntering Day
विश्व सौंटरिंग दिवस (Getty Images)

हैदराबादः हर साल 19 जून को, विश्व सौंटरिंग दिवस लोगों को धीमा चलने और अपने आस-पास की दुनिया की सराहना करने और प्रकृति से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है. इससे एक ओर जहां नये-नये जगहों को देखने का अवसर मिलता है, वहीं दूसरी ओर प्राकृतिक व ऐतिहासिक घरोहरों को देखकर काफी अच्छा लगता है.

दिवस का उद्देश्य: सौंटरिंग एक धीमी चाल है जो एक खुशनुमा रवैया रखती है. इस दिन का लक्ष्य लोगों को धीमा चलने और जीवन का आनंद लेने की याद दिलाना है. आजकल हर कोई व्यस्त है और उनका व्यस्त कार्यक्रम लोगों को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है. पूरी दुनिया में तनाव के कारण लोग कई तरह की बीमारियों का सामना कर रहे हैं. इसलिए जीवन को पूरी तरह से जीने के लिए हमें कुछ समय के लिए रुकना और थोड़ा आराम करना चाहिए. यह दिन स्वस्थ, तनाव मुक्त मानसिक स्वास्थ्य का भी समर्थन करता है.

World Sauntering Day
विश्व सौंटरिंग दिवस (Getty Images)

विश्व सौंटरिंग दिवस 2024: इतिहास
1979 में, डब्ल्यू.टी. राबे ने जॉगिंग की लोकप्रियता बढ़ने के बाद विश्व सौंटरिंग दिवस की स्थापना की. यह दिन जॉगिंग की बढ़ती लोकप्रियता के जवाब में बनाया गया था. डब्ल्यू.टी. राबे के अनुसार, इस दिन को मनाने का उद्देश्य लोगों को आराम करने, जीवन का आनंद लेने और जो उनके पास है उसकी सराहना करने के लिए प्रोत्साहित करना है. यह विचार उन्हें मिशिगन के मैकिनैक द्वीप पर ग्रैंड होटल में छुट्टियां मनाते समय आया. शायद होटल का 660 फीट ऊंचा दुनिया का सबसे लंबा पोर्च प्रेरणा के लिए एक आदर्श स्थान था.

सैर-सपाटा करने की कला: सैर-सपाटा करना सिर्फ टहलना नहीं है, यह खोजबीन का एक जानबूझकर किया गया कार्य है. फ्रांसीसी शब्द "s'aventurer" से लिया गया है, जिसका अर्थ है भटकना, सैर-सपाटा हमें जीवन में उद्देश्यपूर्ण तरीके से घूमने, अपने आस-पास की दुनिया का अवलोकन करने और उसकी सराहना करने के लिए प्रोत्साहित करता है. सैर-सपाटा करना और 'सैंटिंग' का एक ही अर्थ है, जिसका अर्थ है 'आराम से टहलना.' यह हमारे पर्यावरण के साथ एक सचेत बंधन को बढ़ावा देता है, जिससे हम वर्तमान क्षण के साथ जुड़ पाते हैं और छिपे हुए रत्नों की खोज कर पाते हैं जिन्हें आसानी से अनदेखा किया जा सकता है.

सैर-सपाटा करने के लाभ:

  1. धीमी गति से चलने से, हम अपनी आंखें खोलकर उन विवरणों और सुंदरता को देखते हैं जो हमें रोजाना घेरे रहती हैं.
  2. जब आप हमेशा जल्दी में नहीं होते हैं, तो आपको स्वाभाविक रूप से बेहतर नींद आती है जो बदले में आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाती है.
  3. आधुनिक जीवनशैली की भागदौड़ तनाव के सबसे बड़े कारणों में से एक है. इसलिए, जब आप धीमी गति से चलते हैं, तो आप अपने आप ही अपने तनाव के स्तर को कम कर लेते हैं.
  4. सैर-सपाटा करने से हमें अपने व्यस्त जीवन की सीमाओं से बाहर निकलने और प्रकृति की सुंदरता में डूबने का अवसर मिलता है.
  5. सैर-सपाटा करने से, किसी भी शारीरिक गतिविधि की तरह, मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह में वृद्धि होती है. यह बढ़ा हुआ रक्त संचार आवश्यक ऑक्सीजन और पोषक तत्व प्रदान करता है, जो संज्ञानात्मक कार्य, स्मृति और रचनात्मकता को बढ़ा सकता है.
  6. आराम से टहलना उत्पादकता को बढ़ाता है और मूड को बेहतर बनाता है.
  7. यह मस्तिष्क के रक्त संचार को बढ़ाने में भी सहायता करता है। सैर-सपाटा करने से कई लाभ मिलते हैं, जिसमें कैंसर होने की संभावना कम होना भी शामिल है.
  8. सैर-सपाटा करने से हमें वर्तमान में रहने और वर्तमान में पूरी तरह से व्यस्त रहने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है.

विश्व सैर-सपाटा दिवस कैसे मनाएं?:

  1. प्रकृति की सैर पर जाएं
  2. फोटोग्राफी की सैर करें
  3. अपना फोन बंद करें
  4. थोड़ा आराम करें
  5. दोस्तों या परिवार के साथ समूह सैर-सपाटा का आयोजन करें.

भागदौड़, व्यस्तता हमारी दुनिया में आम बात हो गई है. हम अक्सर व्यस्तता को उत्पादकता या उपलब्धि से जोड़ते हैं, जिससे एक ऐसी संस्कृति बनती है जो लगातार हमसे सक्रिय रहने की मांग करती है. जीवन की बढ़ती लागत के कारण, बड़ी संख्या में लोग सिर्फ अपना खर्च चलाने के लिए ज़्यादा घंटे या कई नौकरियां कर रहे हैं, जिससे आज की दुनिया में आराम के लिए समय निकालना मुश्किल होता जा रहा है.

एक तेज रफ्तार दुनिया में जहां एक काम से दूसरे काम में भागदौड़ करना, जीवन में तनाव लेना जो हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है. अब सामान्य बात हो गई है, एक पल के लिए धीमा होना और अपने आस-पास की सुंदरता को गले लगाना एक दुर्लभ विलासिता माना जा सकता है. इसलिए दिन हमें एहसास कराता है कि कभी-कभी आपको बस आराम करना होता है, दुनिया आपका इंतजार कर सकती है.

मई 2019 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बर्नआउट को एक 'व्यावसायिक घटना' के रूप में वर्गीकृत किया, जहां किसी व्यक्ति के कार्यस्थल के तनाव को ठीक से प्रबंधित नहीं किया गया है. इसे निम्न द्वारा पहचाना जा सकता है:

  1. थकावट महसूस करना
  2. पेशेवर प्रभावकारिता में कमी
  3. अपनी नौकरी के प्रति नकारात्मक या संदेहपूर्ण महसूस करना

बर्नआउट और अधिक काम करने से निराशा, थकावट, ऊब, खराब नौकरी का प्रदर्शन और अवसाद हो सकता है. इससे अधिक बर्नआउट और अधिक उदास महसूस करने की प्रवृत्ति बढ़ सकती है, जिससे आत्म-सम्मान और निराशा खराब हो सकती है. लंबे समय तक काम करना और पुराने तनाव से निपटना किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य और कल्याण पर लंबे समय तक प्रभाव डाल सकता है. इसलिए ब्रेक लेना और खुद को प्रकृति में सांस लेने के लिए कुछ समय देना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है.

ये भी पढ़ें

रामोजी फिल्म सिटी : करिश्माई दुनिया, जहां कल्पना की कोई सीमा नहीं है - RAMOJI FILM CITY

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस : पर्यटकों की पसंद वाले प्रमुख भारतीय शहर

जानें, क्या है ग्लोबल टूरिज्म रेसिलिएंस डे

हैदराबादः हर साल 19 जून को, विश्व सौंटरिंग दिवस लोगों को धीमा चलने और अपने आस-पास की दुनिया की सराहना करने और प्रकृति से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है. इससे एक ओर जहां नये-नये जगहों को देखने का अवसर मिलता है, वहीं दूसरी ओर प्राकृतिक व ऐतिहासिक घरोहरों को देखकर काफी अच्छा लगता है.

दिवस का उद्देश्य: सौंटरिंग एक धीमी चाल है जो एक खुशनुमा रवैया रखती है. इस दिन का लक्ष्य लोगों को धीमा चलने और जीवन का आनंद लेने की याद दिलाना है. आजकल हर कोई व्यस्त है और उनका व्यस्त कार्यक्रम लोगों को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है. पूरी दुनिया में तनाव के कारण लोग कई तरह की बीमारियों का सामना कर रहे हैं. इसलिए जीवन को पूरी तरह से जीने के लिए हमें कुछ समय के लिए रुकना और थोड़ा आराम करना चाहिए. यह दिन स्वस्थ, तनाव मुक्त मानसिक स्वास्थ्य का भी समर्थन करता है.

World Sauntering Day
विश्व सौंटरिंग दिवस (Getty Images)

विश्व सौंटरिंग दिवस 2024: इतिहास
1979 में, डब्ल्यू.टी. राबे ने जॉगिंग की लोकप्रियता बढ़ने के बाद विश्व सौंटरिंग दिवस की स्थापना की. यह दिन जॉगिंग की बढ़ती लोकप्रियता के जवाब में बनाया गया था. डब्ल्यू.टी. राबे के अनुसार, इस दिन को मनाने का उद्देश्य लोगों को आराम करने, जीवन का आनंद लेने और जो उनके पास है उसकी सराहना करने के लिए प्रोत्साहित करना है. यह विचार उन्हें मिशिगन के मैकिनैक द्वीप पर ग्रैंड होटल में छुट्टियां मनाते समय आया. शायद होटल का 660 फीट ऊंचा दुनिया का सबसे लंबा पोर्च प्रेरणा के लिए एक आदर्श स्थान था.

सैर-सपाटा करने की कला: सैर-सपाटा करना सिर्फ टहलना नहीं है, यह खोजबीन का एक जानबूझकर किया गया कार्य है. फ्रांसीसी शब्द "s'aventurer" से लिया गया है, जिसका अर्थ है भटकना, सैर-सपाटा हमें जीवन में उद्देश्यपूर्ण तरीके से घूमने, अपने आस-पास की दुनिया का अवलोकन करने और उसकी सराहना करने के लिए प्रोत्साहित करता है. सैर-सपाटा करना और 'सैंटिंग' का एक ही अर्थ है, जिसका अर्थ है 'आराम से टहलना.' यह हमारे पर्यावरण के साथ एक सचेत बंधन को बढ़ावा देता है, जिससे हम वर्तमान क्षण के साथ जुड़ पाते हैं और छिपे हुए रत्नों की खोज कर पाते हैं जिन्हें आसानी से अनदेखा किया जा सकता है.

सैर-सपाटा करने के लाभ:

  1. धीमी गति से चलने से, हम अपनी आंखें खोलकर उन विवरणों और सुंदरता को देखते हैं जो हमें रोजाना घेरे रहती हैं.
  2. जब आप हमेशा जल्दी में नहीं होते हैं, तो आपको स्वाभाविक रूप से बेहतर नींद आती है जो बदले में आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाती है.
  3. आधुनिक जीवनशैली की भागदौड़ तनाव के सबसे बड़े कारणों में से एक है. इसलिए, जब आप धीमी गति से चलते हैं, तो आप अपने आप ही अपने तनाव के स्तर को कम कर लेते हैं.
  4. सैर-सपाटा करने से हमें अपने व्यस्त जीवन की सीमाओं से बाहर निकलने और प्रकृति की सुंदरता में डूबने का अवसर मिलता है.
  5. सैर-सपाटा करने से, किसी भी शारीरिक गतिविधि की तरह, मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह में वृद्धि होती है. यह बढ़ा हुआ रक्त संचार आवश्यक ऑक्सीजन और पोषक तत्व प्रदान करता है, जो संज्ञानात्मक कार्य, स्मृति और रचनात्मकता को बढ़ा सकता है.
  6. आराम से टहलना उत्पादकता को बढ़ाता है और मूड को बेहतर बनाता है.
  7. यह मस्तिष्क के रक्त संचार को बढ़ाने में भी सहायता करता है। सैर-सपाटा करने से कई लाभ मिलते हैं, जिसमें कैंसर होने की संभावना कम होना भी शामिल है.
  8. सैर-सपाटा करने से हमें वर्तमान में रहने और वर्तमान में पूरी तरह से व्यस्त रहने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है.

विश्व सैर-सपाटा दिवस कैसे मनाएं?:

  1. प्रकृति की सैर पर जाएं
  2. फोटोग्राफी की सैर करें
  3. अपना फोन बंद करें
  4. थोड़ा आराम करें
  5. दोस्तों या परिवार के साथ समूह सैर-सपाटा का आयोजन करें.

भागदौड़, व्यस्तता हमारी दुनिया में आम बात हो गई है. हम अक्सर व्यस्तता को उत्पादकता या उपलब्धि से जोड़ते हैं, जिससे एक ऐसी संस्कृति बनती है जो लगातार हमसे सक्रिय रहने की मांग करती है. जीवन की बढ़ती लागत के कारण, बड़ी संख्या में लोग सिर्फ अपना खर्च चलाने के लिए ज़्यादा घंटे या कई नौकरियां कर रहे हैं, जिससे आज की दुनिया में आराम के लिए समय निकालना मुश्किल होता जा रहा है.

एक तेज रफ्तार दुनिया में जहां एक काम से दूसरे काम में भागदौड़ करना, जीवन में तनाव लेना जो हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है. अब सामान्य बात हो गई है, एक पल के लिए धीमा होना और अपने आस-पास की सुंदरता को गले लगाना एक दुर्लभ विलासिता माना जा सकता है. इसलिए दिन हमें एहसास कराता है कि कभी-कभी आपको बस आराम करना होता है, दुनिया आपका इंतजार कर सकती है.

मई 2019 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बर्नआउट को एक 'व्यावसायिक घटना' के रूप में वर्गीकृत किया, जहां किसी व्यक्ति के कार्यस्थल के तनाव को ठीक से प्रबंधित नहीं किया गया है. इसे निम्न द्वारा पहचाना जा सकता है:

  1. थकावट महसूस करना
  2. पेशेवर प्रभावकारिता में कमी
  3. अपनी नौकरी के प्रति नकारात्मक या संदेहपूर्ण महसूस करना

बर्नआउट और अधिक काम करने से निराशा, थकावट, ऊब, खराब नौकरी का प्रदर्शन और अवसाद हो सकता है. इससे अधिक बर्नआउट और अधिक उदास महसूस करने की प्रवृत्ति बढ़ सकती है, जिससे आत्म-सम्मान और निराशा खराब हो सकती है. लंबे समय तक काम करना और पुराने तनाव से निपटना किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य और कल्याण पर लंबे समय तक प्रभाव डाल सकता है. इसलिए ब्रेक लेना और खुद को प्रकृति में सांस लेने के लिए कुछ समय देना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है.

ये भी पढ़ें

रामोजी फिल्म सिटी : करिश्माई दुनिया, जहां कल्पना की कोई सीमा नहीं है - RAMOJI FILM CITY

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस : पर्यटकों की पसंद वाले प्रमुख भारतीय शहर

जानें, क्या है ग्लोबल टूरिज्म रेसिलिएंस डे

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.