भारत जोड़ो न्याय यात्रा में भूपेश बघेल बने सीनियर ऑब्जर्वर, बिहार में पार्टी गतिविधियों पर भी रखेंगे नजर

author img

By ETV Bharat Chhattisgarh Desk

Published : Jan 27, 2024, 3:15 PM IST

Updated : Jan 27, 2024, 3:50 PM IST

Bhupesh Baghel Senior Observer

Bhupesh Baghel Senior Observer छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम भूपेश बघेल को लोकसभा चुनाव से पहले बड़ी जिम्मेदारी मिली है. भूपेश बघेल को बिहार में होने वाली राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का सीनियर ऑब्जर्वर बनाया गया है.इसी के साथ भूपेश बघेल को बिहार में पार्टी की अन्य गतिविधियों को संभालने की जिम्मेदारी भी मिली है. Bharat Jodo Nyay Yatra In Bihar

रायपुर/दिल्ली : राहुल गांधी के नेतृत्व में निकाली जा रही भारत जोड़ो न्याय यात्रा को लेकर एक बड़ी खबर आई है. इस यात्रा के बिहार आने पर जिम्मेदारी छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को दी गई है. भूपेश बघेल को बिहार में भारत जोड़ो न्याय यात्रा का सीनियर ऑब्जर्वर बनाया गया है.भूपेश बघेल के साथ इस यात्रा में दूसरे राजनेताओं को भी जिम्मेदारी मिली है.इस बात की जानकारी खुद पूर्व सीएम भूपेश बघेल ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए दी है.भूपेश बघेल ने इस जिम्मेदारी के लिए शीर्ष नेतृत्व को धन्यवाद कहा है.

  • पूर्व मुख्यमंत्री श्री @bhupeshbaghel को कांग्रेस अध्यक्ष श्री @kharge द्वारा बिहार में भारत जोड़ो न्याय यात्रा एवं अन्य पार्टी गतिविधियों के समन्वय हेतु वरिष्ठ पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया । pic.twitter.com/aP7wLfu8hV

    — Bhupesh Online (@BhupeshOnline) January 27, 2024 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

बिहार में राजनीतिक उथल-पुथल के बीच बड़ी जिम्मेदारी : आपको बता दें कि बिहार में भारत जोड़ो न्याय यात्रा पहुंचने से पहले ही सियासी उठापठक तेज हो चुकी है. डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बीच बढ़ रही तल्खियों ने कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा दी है.यदि नीतीश कुमार लोकसभा चुनाव से पहले एनडीए में फिर से शामिल हुए तो कहीं ना कहीं इससे कांग्रेस की रणनीति को गहरा धक्का लगेगा.क्योंकि इंडी अलायंस में नीतीश,लालू के साथ कांग्रेस खुद को मजबूत स्थिति में देख रही थी.लेकिन यदि आरजेडी और जेडीयू का गठबंधन टूटा तो कहीं ना कहीं इंडी अलायंस को भी गहरा झटका लगेगा.आपको बता दें कि बिहार में कांग्रेस के विधायकों के भी टूटने की खबर है.जिसके लिए पार्टी ने आनन फानन में भूपेश बघेल को बिहार भेजा है.

असम में रोकी गई थी राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा : राहुल गांधी का 22 जनवरी के दिन नगांव जिले के बटाद्रवा स्थित श्री श्री शंकर देव सत्र (मठ) मंदिर जाने का कार्यक्रम था. लेकिन स्थानीय प्रशासन ने राहुल गांधी और उनकी टीम को बटाद्रवा से करीब 17 किलोमीटर पहले ही हैबोरगांव में रोक लिया था. असमिया समाज में प्रतिष्ठित वैष्णव संत श्रीमंत शंकर देव की जन्म स्थली बटाद्रवा सत्र मंदिर में जाने से रोकने से नाराज कांग्रेस नेता राहुल गांधी अपने कार्यकर्ताओं के साथ हैबरगांव में ही धरने पर बैठ गए थे .इस दौरान राहुल गांधी ने समर्थकों के साथ ही सड़क पर रघुपति राघव राजाराम भजन गाना शुरु कर दिया था. जिसे लेकर कांग्रेस ने पूरे देश में प्रदर्शन किया.

पूर्व सीएम भूपेश बघेल ने हिमंता पर साधा था निशाना : राहुल गांधी को रोके जाने की घटना पर छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम भूपेश बघेल ने असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा को आड़े हाथों लिया था. भूपेश बघेल ने कहा था कि आज BJP सरकार राहुल गांधी जी को मंदिर जाने से रोक रही है. बीजेपी सरकार को आस्था पर पहरा लगाने का हक किसने दिया? यह अन्याय है, हम इसके खिलाफ लड़ते रहेंगे. मंदिर जाने से रोकना? समझ क्या रखा है? अब धार्मिक स्थलों पर भी इनका नियंत्रण चलेगा क्या? ये गुंडागर्दी ज्यादा दिन की नहीं हैं. समझ लीजिए. जब कोई सुबाहु और मारीच किसी को पूजा, यज्ञ करने से रोकते हैं, तब-तब प्रभु श्री राम उसका वध करते हैं. अति का अंत निश्चित है.

अभी कहां है न्याय यात्रा ? : राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा पश्चिम बंगाल में है. जहां के दार्जिलिंग में राहुल गांधी यात्रा कर रहे हैं. पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में राहुल गांधी ने सार्वजनिक बैठक की अनुमति प्रशासन से मांगी थी.लेकिन प्रशासन ने सार्वजनिक बैठक करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया. ये बैठक रविवार को 28 जनवरी को होनी थी.लेकिन अब अनुमति नहीं मिलने से सार्वजनिक बैठक पर संशय है. कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम भूपेश बघेल को बिहार में भारत जोड़ो न्याय यात्रा का सीनियर ऑब्जर्वर बनाने के साथ ही अन्य राजनीतिक गतिविधियों के लिए भी संयोजक नियुक्त किया है. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने इस संबंध में पत्र जारी किया है.

छत्तीसगढ़ में नई सरकार बनते ही पुलिस विभाग में फेरबदल, 5 निरीक्षकों समेत 31 पुलिसकर्मियों का ट्रांसफर
छत्तीसगढ़ की अब तक की सबसे बड़ी प्रशासनिक सर्जरी, 88 अफसर इधर से उधर, IPS को जनसंपर्क की कमान
Last Updated :Jan 27, 2024, 3:50 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.