ETV Bharat / bharat

बनभूलपुरा में कर्फ्यू में तीन से आठ घंटे की ढील, बंद रहेगी इंटरनेट सेवा, ADG प्रशासन ने अस्थायी पुलिस चौकी का लिया जायजा

author img

By ETV Bharat Uttarakhand Team

Published : Feb 16, 2024, 6:32 AM IST

Updated : Feb 16, 2024, 12:22 PM IST

Haldwani Banbhulpura violence हल्द्वानी के बनभूलपुरा में हुए उपद्रव में पांच लोगों की मौत हो गई, वहीं उपद्रवियों के हमले में 300 से अधिक लोग घायल हुए हैं. जिसके बाद पुलिस-प्रशासन क्षेत्र की हर गतिविधि पर पैनी नजर रख रही है. वहीं हालात सामान्य होने पर कर्फ्यू क्षेत्र में समय-समय पर ढील दे रही है. जिससे लोगों को परेशानियों का सामना ना करना पड़े. वहीं हिंसा के मामले में 42 लोगों को अरेस्ट किया गया है, 9 फरार लोगों की संपत्ति कुर्क के आदेश कोर्ट से ले लिए गए हैं.

Etv Bharat
Etv Bharat

हल्द्वानी (उत्तराखंड): बनभूलपुरा हिंसा के एक सप्ताह हो चुके हैं. हिंसा के चलते बनभूलपुरा थाना क्षेत्र में अभी भी कर्फ्यू जारी है. गुरुवार को जिला मजिस्ट्रेट ने कर्फ्यू में दो से 7 घंटे की छूट देने के बाद हालात सामान्य होने के बाद शुक्रवार को अलग-अलग जगहों में कर्फ्यू में 3 से 8 घंटे की ढील दी है. कर्फ्यू में छूट के दौरान बाहरी आवाजाही पूर्ण रूप से बंद रहेगी. ढील अवधि के दौरान सभी तरह की दुकानें खुली रहेंगी. लेकिन इंटरनेट सेवा पूर्ण रूप से बंद रहेगी. वहीं एडीजी प्रशासन अमित सिन्हा ने हल्द्वानी के बनभूलपुरा क्षेत्र में स्थापित नई अस्थायी पुलिस चौकी का जायजा लिया.साथ ही उन्होंने अपने अधीनस्थ अधिकारियों को सुरक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए.

धीरे-धीरे सामान्य होने लगे हालात:जिलाधिकारी वंदना सिंह के द्वारा दिए गए आदेश के अनुसार शुक्रवार को गौजाजाली शनि बाजार के उत्तरी क्षेत्र, रेलवे बाजार रोड से पश्चिम दिशा का पूरा क्षेत्र, गोलच्छा कंपाउंड स्थित एफसीआई क्षेत्र में सुबह आठ बजे से शाम चार बजे तक छूट रहेगी. जबकि बनभूलपुरा थाना क्षेत्र के अन्य क्षेत्र में कर्फ्यू में तीन घंटे के ढील दी गई है. जहां सुबह 8 बजे से लेकर 11 बजे तक कर्फ्यू में ढील रहेगी.इस दौरान क्षेत्र रहने वाले लोग क्षेत्र में कहीं भी जा सकते हैं. जिलाधिकारी वंदना सिंह ने कहा है कि हालात सामान्य हो रहे हैं. परिस्थितियों के अनुसार कर्फ्यू में समय के अनुसार कर्फ्यू में आगे ढील दी जाएगी.
पढ़ें-हल्द्वानी हिंसा मामला, मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक और उसके बेटे के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी, नेपाल भागने की आशंका

प्रशासन ने कर्फ्यू में दी ढील: गौरतलब है कि 8 फरवरी को हल्द्वानी के बनभूलपुरा थाना क्षेत्र के मलिक के बगीचे में सरकारी भूमि पर बने अवैध नमाज स्थल और मदरसा हटाने के दौरान बवाल और आगजनी हुई थी. जिसमें पांच लोगों की जान गई है, जबकि सरकारी और निजी संपत्ति को भारी नुकसान पहुंचा है. पुलिस प्रशासन उपद्रवियों को चिन्हित कर उनको जेल भेजने का काम कर रही है. बनभूलपुरा क्षेत्र में हालात सामान्य हो रहे हैं, उम्मीद जताई जा रही है कि हालात सामान्य रहे तो जिला मजिस्ट्रेट द्वारा दिन का कर्फ्यू हटाया जा सकता है.

एडीजी प्रशासन ने किया निरीक्षण: एडीजी प्रशासन अमित सिन्हा ने हल्द्वानी के बनभूलपुरा क्षेत्र में स्थापित नई अस्थायी पुलिस चौकी का जायजा लिया. साथ ही अमित सिन्हा ने नए थाने के लिए आवश्यक निर्धारित मानकों के संबंध में प्रस्ताव पर विस्तार से चर्चा की. साथ ही उन्होंने अपने अधीनस्थ अधिकारियों को सुरक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए.

हिंसा में इन की हुई मौत: वहीं बनभूलपुरा हिंसा में फईम कुरैशी, जाहिद, मोहम्मद अनस, शब्बान की मौत हो गई. वहीं मोहम्मद इसरार की हॉस्पिटल में इलाज के दौरान मौत हुई. मोहम्मद इसरार की उम्र करीब 50 साल थी. वहीं बनभूलपुरा हिंसा के मामले में पुलिस द्वारा 42 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि 9 फरार लोगों की संपत्ति कुर्क के आदेश कोर्ट से ले लिए गए हैं.

ये भी पढ़ें-

Last Updated :Feb 16, 2024, 12:22 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.