अयोध्या में राम नामी झंडा लगा कर रेकी कर रहे थे खालिस्तानी समर्थक, एटीएस ने तीन को दबोचा

author img

By ETV Bharat Uttar Pradesh Desk

Published : Jan 20, 2024, 6:17 AM IST

Etv Bharat

अयोध्या राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पहले यूपी एटीएस को बड़ी सफलता मिली है. यूपी एटीएस ने अयोध्या में आतंकी (Terrorist in Ayodhya) हमले की तैयारी कर रहे खालिस्तानी ग्रुप के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है.

लखनऊ : अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा से पहले यूपी एटीएस ने तीन खालिस्तानियों युवकों को हमले की तैयारी के आरोपी में गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार हुए शंकर लाल दुसाद, अजीत कुमार शर्मा और प्रदीप कुमार पुनिया सीकर राजस्थान के रहने वाले हैं और कनाडा में मारे गए सुखबिन्दर उर्फ सुक्खा व अर्श डाला गैंग के सदस्य हैं. तीनों अयोध्या किसी बड़ी साजिश के तहत रेकी करने आए थे. तीनों की गिरफ्तारी से बौखलाए सिख फॉर जस्टिस चीफ पन्नू ने सीएम योगी आदित्यनाथ को धमकी देते हुए ऑडियो जारी किया था.

जेल में सुक्खा के संपर्क के आया था शंकर लाल : डीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार के मुताबिक खालिस्तानी ग्रुप के टीम सदस्य शंकर लाल दुसाद, अजीत कुमार शर्मा और प्रदीप कुमार पुनिया अयोध्या पहुंचे थे. सभी होटल में रुक कर रेकी कर रहे थे. इसी दौरान सूचना पर यूपी एटीएस ने तीनों को दबोच लिया. जांच करने में सामने आया कि शंकर लाल दुसाना के खिलाफ कई मुकदमे दर्ज हैं. इन्ही केस के चलते वह बीकानेर जेल में बंद था. इसी दौरान उसकी मुलाकात कुछ खालिस्तानियों से हुई थी. जिसकी मदद से वह कनाडा में रह रहे खालिस्तान समर्थक गैंगस्टर सुखबिन्दर गिल उर्फ सुखडोल सिंह गिल उर्फ सुखदिल के संपर्क में आया. शंकर लाल दुसाद की सुखबिन्दर उर्फ सुक्खा से व्हाट्सएप के माध्यम से बात होने लगी. जिसमें सुक्खा ने गिरफ्तार हुए शंकरलाल को बताया कि तुम्हारे गैंग के लोगों व खालिस्तानी समर्थकों की हत्या में गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई का हाथ है और तुम बदला लेने में हम लोगों की मदद करो. इसी बीच सितम्बर 2023 में कनाडा में सुखबिन्दर उर्फ सुक्खा की हत्या हो गई थी.

पन्नू के हुक्म पर अयोध्या की रेकी करने गया था शंकरलाल : डीजी कानून व्यवस्था के अनुसार शंकरलाल दुसाद कुख्यात गैंगस्टर राजेन्द्र जाट उर्फ राजू ठेहट का भी करीबी रहा है. गैंगवार में राजू ठेहट के मारे जाने के बाद से उसके गैंग का संचालन शंकरलाल दुसाद ही कर रहा था. शंकरलाल दुसाद द्वारा अवैध रूप से धन कमा कर दूसरों के नामों से मेघालय माइनिंग और राजस्थान में ट्रांस्पोर्ट का कार्य भी किया था. पूछताछ में शंकरलाल दुसाद ने बताया है कि विदेश में रह रहे हरमिन्दर सिंह उर्फ लांडा (खालिस्तान समर्थक) ने उसे निर्देश दिया गया था कि गुरपतवन्त सिंह पन्नू ने कहा है कि अयोध्या जाकर वहां रेकी कर नक्शा भेजे और उसके निर्देश का इंतजार करे. उसी अनुसार घटना का अंजाम दिया जाएगा व सामग्री उपलब्ध करा दी जाएगी. इसलिए हम लोग अपने वाहन में श्रीराम का झंडा लगाकर रेकी कर रहे थे, जिससे हम पर किसी का शक न जाए.

यह भी पढ़ें : 'रामलला' के गुनहगारों को उम्रकैद

अयोध्या: राम जन्मभूमि पर हुए आतंकी हमले पर सजा आज, बढ़ाई गई सुरक्षा

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.