Exclusive : कोटा उत्तर के लिए मैं नया नहीं, पहले भी धारीवाल को हराया है, फिर यही होगा: प्रहलाद गुंजल

author img

By ETV Bharat Rajasthan Desk

Published : Nov 5, 2023, 5:52 PM IST

Rajasthan assembly Election 2023

Rajasthan assembly Election 2023, कोटा उत्तर से भाजपा ने पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजन को मैदान में उतारा है. ईटीवी भारत से बातचीत में उन्होंने कहा कि तीसरी बार भाजपा प्रत्याशी के रूप में यहां से चुनाव लड़ने जा रहा हूं. पहले भी यहां से शांति धारीवाल को चुनाव में हरा चुका हूं, इस बार भी यही होगा.

भाजपा प्रत्याशी प्रहलाद गुंजल

कोटा. भारतीय जनता पार्टी ने कोटा उत्तर विधानसभा सीट से पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल को मौका दिया है. इस सीट से 2013 में भी प्रहलाद गुंजल चुनकर विधायक बने थे और इसी सीट से तीसरी बार उन्हें मौका दिया गया है. ईटीवी भारत से खास बातचीत में उन्होंने कहा कि कोटा उत्तर से पहले भी चुनाव में शांति धारीवाल जैसे ताकतवर नेता को हराया था. इस बार भी यही होगा.

प्रहलाद गुंजल ने आरोप लगाया कि पिछली बार शांति धारीवाल ने भ्रम फैलाया था और कई झूठे दावे किए थे. इसके चलते मुझे हार मिली. उन्होंने झूठ बोलकर लोगों को ठग लिया और विश्वास घात किया. इसके बावजूद भी हम पूरे 5 साल सड़क पर संघर्ष करते रहे हैं. हमने पानी, बिजली, सड़क, कानून व्यवस्था, राजस्थान में हिंसा, लूट, डकैती, अन्याय, दुष्कर्म और अराजकता के मुद्दों पर डटकर मुकाबला किया है.

पढ़ें. गहलोत के गढ़ में बगावत, सूरसागर से निर्दलीय उतरेंगे पूर्व महापौर रामेश्वर दाधीच

टिकट देरी पर बोले- सब्र का फल मीठा : प्रहलाद गुंजल का भारतीय जनता पार्टी की पांचवी सूची में नाम आया है. टिकट वितरण में देरी को लेकर सवाल करने पर प्रहलाद गुंजल ने कहा कि सब्र का फल मीठा होता है. बीते 5 साल के शासन में प्रहलाद गुंजल और कार्यकर्ताओं पर काफी मुकदमे लगे हैं. इस सवाल के जवाब पर उन्होंने कहा कि अब 25 दिन इंतजार कीजिए राज बदलने वाला है. सब कुछ बदल जाएगा. बीते 5 साल तक उनके और भाजपा संगठन के बीच बिल्कुल भी ठनी नहीं थी. वो और कोटा उत्तर के कार्यकर्ता सड़क पर संघर्ष कर रहे थे. दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी का संगठन अपना काम कर रहा था.

5 सालों में कोटा काफी बदला : प्रहलाद गुंजल ने कहा कि अवैधानिक तरीके से कोटा में काम खड़े कर दिए हैं. इंडियन रोड कांग्रेस कहती है कि चौराहों पर होर्डिंग नहीं होने चाहिए, क्योंकि यह दुर्घटना का सबक बनेंगे. वहीं, दूसरी तरफ बड़े-बड़े चौराहे बना दिए और वहां पर होर्डिंग्स के साथ ही मूर्तियां भी लगा दी. रोड लाइट फ्री शहर बनाने के दावे करने वाली कांग्रेस सरकार ने सभी जगह पर राइट टर्न को खत्म कर दिया और उनकी जगह पर नए चौराहे बना दिए. इन सब मुद्दों को लेकर अगर कोई सुप्रीम कोर्ट में चला गया है, तो काफी दिक्कत हो सकती है.

पढ़ें. कांग्रेस की फेक सूची वायरल, हेमाराम चौधरी को बताया गुड़ामालानी से उम्मीदवार

50% दर पर जस्टिफिकेशन मांगा, मिला तबादला : प्रहलाद गुंजल ने आरोप लगाया कि कोटा शहर के पूरे लैंड बैंक को खत्म कर दिया है. यूआईटी के जमीनों को औने-पौने दामों पर खुर्द बुर्द किया गया है. नगर विकास न्यास को इन लोगों ने कंगाल कर दिया है. हमारी सरकार आने वाली है, हम काम कैसे चलाएंगे, यह अभी हमें सोचना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि शांति धारीवाल पर भ्रष्टाचार के जो आरोप लगाए थे, यह सभी प्रमाणिक थे. उन्होंने दावा किया कि कलेक्टर खुद ऐसा कह कर गया था, कि जब उसने 50 फीसदी ज्यादा दर पर अनुमोदन की एक फाइल को रोका और जस्टिफिकेशन मांगा था, तब जवाब में उन्हें तबादला मिला था. यह बात पूरा शहर जानता है, क्योंकि यह 50 फ़ीसदी ज्यादा दर नहीं हिस्सा था.

धारीवाल को कांग्रेस आलाकमान भ्रष्ट बता रहा : उन्होंने शांति धारीवाल को लेकर किए गए एक सवाल पर कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी कह रहे हैं कि यह भ्रष्ट आदमी है. कोटा शहर की गलियों में जहां भी जा रहा हूं, तो लोग कह रहे हैं कि हमें नहीं पता था कि जिसको हम चुन रहे हैं वह इतना बड़ा दागी चेहरा है. उन्होंने कहा कि जब उसे मैंने भ्रष्ट कहा था, तो यह माना जाता था कि विरोधी होने से ऐसा बोल रहा है. अब जब कांग्रेस का आलाकमान मान रहा है, तब कुछ नहीं कहा जा सकता है.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.