गजब के चोर! चोरी के पैसे से पूजा करवाकर धोते हैं पाप, बनवाया है आलीशान घर

author img

By ETV Bharat Madhya Pradesh Team

Published : Dec 31, 2023, 8:21 PM IST

Updated : Jan 1, 2024, 3:53 PM IST

Rewa Police Caught Theft

Rewa Police Caught Theft: रीवा पुलिस ने चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले एक लुटेरी गैंग का पर्दाफाश किया है. जब पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की तो उन्होंने कई चौकानें वाले खुलासे किए.

चोरी के पैसे से करवाते हैं पूजा

रीवा। मऊगंज जिले की पुलिस ने शातिर लुटेरी गैंग के एक मुख्य सदस्य को पकड़ने में सफलता हसिल की है. गैंग में करीब 6 सदस्य शमिल हैं. पकड़े गए आरोपी ने बीते दिनों एक व्यक्ति की बाइक की डिग्गी से 6 लाख की रकम पार कर दी थी. इसके बाद पीड़ित ने आरोपी को रंगे हाथों दबोच लिया था. इस दौरान आस-पास मौजूद लोग भी एकत्रित हो गए. मौके पर खड़ी पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से आरोपी को पकड़ लिया और अपने साथ थाने ले गई. पूछताछ में शातिर लुटेरे ने पुलिस के सामने चौंका देने वाले खुलासे किए हैं. आरोपी की निशानदेही पर पुलिस जब गिरोह के अन्य सदस्यों के घर पहुंची तो आरोपियों का घर देखकर पुलिस टीम की आंखे खुली की खुली रह गईं.

मऊगंज पुलिस ने किया लुटेरी गैंग का पर्दाफाश: घटना मऊगंज जिले की है. चौहना गांव निवासी रमेश कुमार सोनी अपनी बेटी के इलाज के लिए मऊगंज स्थित एक्सिस बैंक से 6 लाख रुपए निकालकर अपनी बाइक की डिग्गी में रखा और घर की तरफ जाने लगे. रमेश सोनी जैसे ही मऊगंज स्थित पोस्ट ऑफिस के समीप पहुंचे तो मेडिकल स्टोर के सामने बाइक खड़ी कर दवा लेने चले गए, लेकिन उनकी नजर अपनी बाइक के डिग्गी की तरफ ही थी. वह दवा ले पाते की इससे पहले उन्हें बाइक के पास खड़ा एक संदिग्ध व्यक्ति दिखाई दिया, जो मोटर साइकिल की डिग्गी को तोड़ने के फिराक में था.

Rewa Police Caught Theft
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

मोटर साइकिल में लगी डिग्गी से उड़ाते थे रकम: बदमाश बाइक में लगी डिग्गी को तोड़ने का प्रयास कर ही रहा था कि रमेश कुमार सोनी ने दौड़कर बदमाश को पकड़ लिया. इस दौरान बदमाश ने उन पर हमला कर दिया और मौके से भागने लगा. तभी वहां पर मौजूद भीड़ ने आरोपी को दबोच लिया. इसी दौरान ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी भी तत्काल मौके पर पहुंच गए. पुलिस को देख आरोपी पैसे लेकर भागने लगा, लेकिन पुलिस ने शातिर लुटेरे को पकड़ लिया. उसके पास से 6 लाख रुपए से भरा बैग बरामद किया और उसे मऊगंज थाने ले आई. पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने शातिर लुटेरे के विरुद्ध प्रकरण पंजीबद्ध किया. उससे पूछताछ शूरू की. पुलिस ने आरोपी के पास से डिग्गी तोड़ने वाले औजार और चाबी भी बरामद की है.

गैंग ने 6 माह पूर्व रिटायर्ड आर्मी के जवान को बनाया था निशाना: पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने कई बड़े खुलासे किए हैं. आरोपी के गैंग में 5 से 6 सदस्य काम करते हैं. लुटेरी गैंग बैंक से पैसा निकालने वाले लोगों को अपना शिकार बनाती थी. इससे पहले चार माह पूर्व अगस्त माह के दौरान भी शातिर लुटेरी गैंग ने आर्मी से रिटायर्ड हुए एक जवान को अपना निशाना बनाया था. गैंग ने स्टेट बैंक के बाहर खड़ी रिटायर्ड आर्मी के जवान की बाइक की डिग्गी से 4 लाख रुपए लूटे थे. पुलिस ने इस मामले पर भी अपराध पंजीबद्ध कर बदमाशों की तलाश शुरू की थी, लेकिन इनका सुराग नहीं लग पाया था. इसके अलावा यह गैंग चोरी की कई वारदातों को भी अंजाम दे चुकी है, जिसकी जांच की जा रही है.

अन्य आरोपियों को पकड़ने गई पुलिस हुई हैरान: आरोपी की निशानदेही पर जब पुलिस की टीम ने अन्य बदमाशों की तालाश करनी शूरू की और एक-एक कर उनके घर पहुंची, तो पुलिस की आंखे खुली की खुली रह गई. आरोपियों का आलीशान घर देखर पुलिस की टीम भी दंग रह गई. लुटेरी गैंग के सभी सदस्यों का घर तीन मंजिला इमारत थी. बताया यह जा रहा है की आरोपी काफी लंबे समय से इस तरह की वारदातों में संलिप्त थे और लूटी गई रकम से ही इन्होंने अपनी-अपनी आलीशान इमारतें खड़ी कर लीं. पुलिस जब लुटेरी गैंग के सभी सदस्यों को पकड़ने उनके घर पहुंची तो उनके घरों पर ताला लटका मिला जो की वारदात के बाद से फरार बताए जा रहे हैं.

लूटी गई रकम से 25 हजार की करवाते थे पूजा: जानकारी के मुताबिक इस शातिर गैंग की एक बड़ी खासियात और भी है. गैंग के सदस्य लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद लूटी गई रकम से 25 हजार की राशि अलग कर लेते थे. इसके बाद इसी 25 हजार रुपए से वह पूजा पाठ करवाते थे. हालांकि, इस सब के पीछे शातिर लुटेरी गैंग का मकसद क्या है. इस बारे में अभी पता नहीं चल सका है. मऊगंज पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र जैन ने बताया कि "पकड़े गए लुटेरी गैंग के मुख्य सरगना से पुलिस पूछताछ में जुटी हुई है. अन्य सदस्यों की तलाश की जा रही है, जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा."

यहां पढ़ें...

बैंक से रुपए निकालने वालों की करते थे रेंकी, फिर करते थे लूट: गिरफ्तार किया गया आरोपी 30 वर्षीय अरुण कंजर सीधी जिले के मझौली थाना क्षेत्र के अंतर्गत चुवाही गांव का निवासी है, जो इस लूट का मास्टरमाइंड है. इसके गिरोह में 5 से ज्यादा सदस्य शामिल हैं. लुटेरी गैंग का यह गिरोह मऊगंज सहित सीधी सिंगरौली जिले में सक्रिय है, जो बैंक से रुपए निकालने वालों की रेकी करता है और उन्हें अपना निशाना बनाता है. फिलहाल पुलिस इस गैंग के अन्य सदस्यों के ठिकानों पर दबिश दे रही है, जिससे और बड़े खुलासे होने की संभावना जताई जा रही है.

Last Updated :Jan 1, 2024, 3:53 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.