भाजपा का मिशन लोकसभा, दिल्ली में BJP की बड़ी बैठक, MP को 7 क्लस्टर में बांटा, नरोत्तम मिश्रा को अहम जिम्मेदारी

author img

By ETV Bharat Madhya Pradesh Desk

Published : Jan 17, 2024, 6:46 AM IST

Updated : Jan 17, 2024, 6:58 AM IST

MP 29 seats divided seven clusters

BJP Mission Lok Sabha: लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर भाजपा की तैयारी जोरों शोरों से चल रही है. चुनाव को लेकर पार्टी ने एमपी में लोकसभा की 29 सीटों को 7 क्लस्टर में बांटा है. दिल्ली बीजेपी मुख्यालय में 8 घंटे से ज्यादा बैठक चली, जिसमें देश भर के 350 से ज्यादा पदाधिकारी मौजूद रहे.

भोपाल। भाजपा ने लोकसभा चुनाव को लेकर इस बार मध्य प्रदेश के 29 लोकसभा क्षेत्रों को सात क्लस्टरों में बांटा है. पार्टी ने अपने उपमुख्यमंत्रियों, मंत्रियों समेत वरिष्ठ नेताओं को इनका प्रभार सौंपा है. इन नेताओं के साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगतप्रकाश नड्डा और अमित शाह महत्वपूर्ण बैठक की और पार्टी की केन्द्रीय स्तर पर बनी रणनीति से अवगत कराया गया. बैठक में क्लस्टर प्रभारियों के अलावा राष्ट्रीय सहसंगठन महामंत्री शिवप्रकाश, मुख्यमंत्री डाक्टर मोहन यादव, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, संगठन महामंत्री हितानंद शामिल हुए. JP Nadda Appoints MP Division Clusters

Narottam Mishra responsibility of Gwalior Chambal
नरोत्तम मिश्रा को ग्वालियर चंबल की जिम्मेदारी दी है

नरोत्तम मिश्रा, विजयवर्गीय को बड़ी जिम्मेदारी

लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने कमर कस ली है. बीजेपी ने लोकसभा को क्लस्टर में बांटा है. दिल्ली बीजेपी मुख्यालय में 8 घंटे से ज्यादा बैठक चली जिसमें देश भर के 350 से ज्यादा पदाधिकारी मौजूद रहे. बैठक में शामिल होने सीएम मोहन यादव समेत अधिकांश नेता सोमवार की शाम ही दिल्ली रवाना हुए थे. जिन नेताओं को इन क्लस्टरों की कमान दी गई है, उनमें उपमुख्यमंत्री जगदीश देवड़ा, राजेन्द्र शुक्ला, मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, प्रहलाद पटेल, विश्वास सारंग, पार्टी के वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा और भूपेन्द्र सिंह शामिल हैं.

भोपाल के क्लस्टर में 5, अन्य में 4-4 लोकसभा सीटें

भाजपा ने 29 लोकसभा क्षेत्रों को प्रदेश के पुराने संभागों के आधार पर इन क्लस्टरों की रचना की है. इनमें भोपाल, इंदौर, उज्जैन, रीवा, जबलपुर, ग्वालियर, सागर को क्लस्टर बनाया गया है. भोपाल में नर्मदापुरम संभाग को शामिल किया गया है. लोकसभा क्षेत्र में जिला कार्यालयों के अलावा पार्टी का एक केन्द्रीय चुनाव कार्यालय खोला जाएगा. यह कार्यालय कहां खोले जाएं, इस पर फैसला मंगलवार को होने वाली बैठक में किया जाएगा.

कार्यालयों एक दो दिन में खुल जायेंगे

कार्यालयों को केन्द्रीय संगठन की योजना के अनुसार 15 जनवरी तक खुलना था पर अब इन्हें एक दो दिन बढ़ा दिया गया है. ये चुनाव कार्यालय सीधे दिल्ली को रिपोर्ट करेंगे. बीजेपी ने पूरे देश की लोकसभा सीटों को क्लस्टर में बांटकर चुनाव लड़ने का तय किया है. इससे वह अपने कार्यकर्ताओं के काम पर ज्यादा बेहतर तरीके से नजर रख पाएगी.

बैठक में दिए गए जीत के टिप्स

राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बैठक का उद्घाटन किया और सत्र को संबोधित किया. बीजेपी में 543 लोकसभा सीटों को अलग-अलग क्लस्टर में बांटा गया है. कुल मिलाकर 146 क्लस्टर बनाए गए हैं, बैठक में क्लस्टर इंचार्ज को लोकसभा चुनाव को लेकर टिप्स दिए गए, साथ ही भाजपा के सभी संगठन महामंत्री मौजूद रहे. एमपी से भाजपा संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा भी बैठक में शामिल हुए. इस बैठक में लोकसभा क्लस्टर के लिए प्रभारी के नाम पर भी चर्चा हुई.

नरोत्तम मिश्रा-ग्वालियर चंबल की जिम्मेदारी पूर्व गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को दी गई है. चार सीटों को मिलाकर एक क्लस्टर बनाया गया है और इसमें मुरैना-भिंड, ग्वालियर, गुना शिवपुरी लोकसभा सीट है.

पूर्व मंत्री भूपेंद्र सिंह- ओबीसी से आने वाले भूपेंद्र सिंह को बुंदेलखंड की चार सीटों की जिम्मेदारी दी गई. जिसमें सागर, दमोह, टीकमगढ़ और खजुराहो सीट हैं.

प्रहलाद पटेल- महाकौशल क्षेत्र की चार लोकसभा सीटों को मिलाकर अलग क्लस्टर बनाया गया है. जबलपुर क्लस्टर में मंडला, बालाघाट, जबलपुर और छिंदवाड़ा लोकसभा को शामिल किया गया है.

राजेंद्र शुक्ल को विंध्य की जिम्मेदारी- रीवा शहडोल की जिम्मेदारी राजेंद्र शुक्ला को दी गई है. जिसमें रीवा, सतना, सीधी लोकसभाओं को शामिल किया गया है.

भोपाल, नर्मदा पुरम संभाग की जिम्मेदारी विश्वास सारंग को- भोपाल नर्मदापुरम को मिलाकर पांच लोकसभा सीटों को शामिल किया गया है. इसमें होशंगाबाद बैतूल, विदिशा, भोपाल राजगढ़ शामिल हैं.

कैलाश विजयवर्गीय को मालवा क्षेत्र की जिम्मेदारी- मालवा क्षेत्र की पांच लोकसभाओं को मिलाकर एक क्लस्टर बनाया है. इसलिए इंदौर, धार, खरगोन, खंडवा, देवास शामिल हैं.

जगदीश देवड़ा को उज्जैन- उज्जैन संभाग में तीन सीटों का एक क्लस्टर है. इसमें उज्जैन, रतलाम, मंदसौर शामिल हैं. इसकी जिम्मेदारी डिप्टी सीएम जगदीश देवड़ा को सौंपी गई है.

Also Read:

बड़े शहरों में लोकसभा के वार रूम बनाए जाएंगे

बीजेपी ने एमपी के सात शहरों को लोकसभा चुनाव के लिए चुना है, इनमें वार रूम रहेगा. जिसमें सोशल मीडिया सहित तमाम संसाधनों के साथ-साथ क्लस्टर मीडिया सेंटर जैसी तमाम सुविधाएं होंगी. इनके जरिए भाजपा चुनावी रणनीति संचालित करेगी. भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, रीवा, उज्जैन और ग्वालियर में क्लस्टर वार रूम बनाए जाने का प्रस्ताव है.

Last Updated :Jan 17, 2024, 6:58 AM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.