जामताड़ाः अवैध खनन की पड़ताल करने पहुंची ईटीवी भारत की टीम, देखिए वीडियो

author img

By

Published : Jan 26, 2021, 2:24 PM IST

continous-coal-smuggling-in-jamtara

जामताड़ा के नाला थाना क्षेत्र में बंद पड़े कोयला खदान में ईसीएल सुरक्षाकर्मी पर जानलेवा हमले को लेकर ईटीवी भारत की टीम ऑन द स्पॉट घटनास्थल पर पड़ताल करने पहुंची. ग्रामीणों के अनुसार इस हमले के बाद भी अवैध कारोबार खनन कम नहीं हुआ है.

जामताड़ा: जिले के नाला थाना क्षेत्र के बंद पड़े ईसीएल कोयला खदान में कोयले के अवैध कारोबार को लेकर छापामारी करने पहुंची ईसीएल सुरक्षाकर्मियों पर जानलेवा हमला के बाद भी प्रशासन और पुलिस ने अब तक कोई सीख नहीं ली है. जिले में अब तक माफिया सक्रिय हैं और कोयले का अवैध कारोबार का खेल धड़ल्ले से जारी है.

देखिए रिपोर्टर खबर

ये भी पढ़ें- गिरिडीहः CRPF कैंप के समीप कार से 7 पेटी अवैध शराब बरामद, जांच जारी


अवैध कारोबारियों के लिए बना सेफ जोन
संथाल परगना का जामताड़ा इन दिनों अवैध कारोबार के लिए मशहूर बनता जा रहा है. अवैध कारोबार करने वालों के लिए संथाल परगना का जामताड़ा जिला सेफ जोन बन गया है. कोयला बालू पत्थर का अवैध कारोबार चरम पर है. बेरोकटोक कोयले का कारोबार किया जा रहा है. नाला थाना क्षेत्र में बंद पड़े कोयला खदान में ईसीएल के सुरक्षाकर्मी पर जानलेवा हमला घटना के बाद भी प्रशासन सुध नहीं ले रही है.

सुरक्षाकर्मियों पर हुआ था हमला

जामताड़ा में नाला थाना क्षेत्र अंतर्गत ईसीएल की दर्जनों कोयले की खदान हैं, जहां पर अवैध कोयला खदान को लेकर ईसीएल के सुरक्षाकर्मी 2 दिन पूर्व छापामारी करने पहुंची थी, जहां पर सुरक्षाकर्मियों पर जानलेवा हमला किया गया और पत्थरबाजी की गई. उनकी गाड़ी को क्षतिग्रस्त कर दिया गया. इसे लेकर नाला थाना में मामला दर्ज किया गया है बावजूद इसके इस क्षेत्र में कोयले का अवैध कारोबार पर लगाम नहीं लग पा रहा है.

रंगासोला वन पाड़ा में डंप किया जा रहा अवैध कोयला

बिंदापाथर थाना क्षेत्र के रंगासोला गांव के वन पाड़ा में अवैध रूप से कोयला डंप किया जा रहा है. रात में माफिया सक्रिय हो जाते हैं और रात में कोयला ट्रक बाहर भेज दिया जाता है. ग्रामीणों के अनुसार रात के 10:00 बजे के बाद गाड़ी आती है और गाड़ी लोड कर भागलपुर पश्चिम बंगाल के रास्ते बांग्लादेश तक ले जायी जाती है.

ईटीवी भारत ऑन द स्पॉट जाकर मामले का खुलासा करते हुए घटना की सच्चाई जानने पहुंची. हकीकत जानने को लेकर जब ईटीवी भारत बिंदापाथर थाना क्षेत्र के रंगासोला गांव के वन पड़ा पहुंचा तो वहां पाया कि भारी मात्रा में कोयले का अवैध डिपो बना हुआ है, जहां कोयला रखा हुआ है जो कि अजय नदी के किनारे स्थित है. कोयला लोड करने के लिए गाड़ी पर एक सीढ़ी बनी हुई है और कोयला खरीदारी को लेकर वहां कांटा भी पाया गया जो कि छिपाकर रखा गया था.

मूकदर्शक बना प्रशासन

जिला प्रशासन और पुलिस की नाक के नीचे ये सभी कारनामे हो रहे हैं, लेकिन पुलिस अब तक इस अवैध काले कारोबार से अनजान हैं या जानबूझकर मूकदर्शक बनी हुई है. अवैध कारोबार को लेकर पुलिस मीडिया से भी बचती नजर आती है. जब भी पुलिस और संबंधित पदाधिकारी से सवाल पूछा जाता है तो वो कुछ भी बोलने से मना करते दिखते हैं.

नाला थाना के बंद पड़े ईसीएल की खदान से अवैध कारोबार को लेकर छापामारी के दौरान ईसीएल के सुरक्षाकर्मी पर हुए हमले की घटना को लेकर आज तक पुलिस ने मीडिया के सामने मुखातिब होना उचित नहीं समझा और ना ही इस घटना को लेकर जानकारी देना. जब ईटीवी भारत की टीम ने ऑन द स्पॉट अवैध कोयला कारोबार को लेकर संबंधित थाना प्रभारी को सूचना दी तो वो भी नजरअंदाज करते नजर आए.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.