हजारीबाग वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में दिखा बाघ के पंजों का निशान! टाइगर की तलाश में जुटा वन विभाग

author img

By ETV Bharat Jharkhand Desk

Published : Jan 12, 2024, 1:10 PM IST

Updated : Jan 12, 2024, 1:45 PM IST

Tiger in Hazaribag

Tiger in Hazaribag Wildlife Sanctuary. हजारीबाग वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में बाघ के पंजों के निशान मिले हैं. जिसके बाद वन विभाग ने बाघ की तलाश शुरू कर दी है. इलाके में चार जानवरों के शव भी मिले हैं. माना जा रहा है कि इन जानवरों को बाघ ने मारा है.

हजारीबाग वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में बाघ दिखने की खबर

हजारीबाग: जिले के वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में बाघ देखे जाने की खबर है. वन विभाग को बाघ के पंजे के निशान और चार जानवरों के शव बरामद हुए हैं. इससे संकेत मिल रहा है कि हजारीबाग वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में एक वयस्क बाघ घूम रहा है, जिसका वजन 200 से 250 किलोग्राम के बीच हो सकता है. इसकी पुष्टि के लिए वन विभाग ने एक टीम भी बनाई है, जो इस पर रिसर्च कर रही है और कई इनपुट पर काम भी किया जा रहा है. वन्य प्राणी प्रमंडल के वन प्रमंडल पदाधिकारी अविनाश कुमार चौधरी ने भी इसके संकेत दिये हैं. रॉयल बंगाल टाइगर ने अब तक इंसानों पर हमला नहीं किया है. वह घने जंगलों के बीच घूम रहा है.

नेशनल पार्क के अंदर चार-पांच जानवरों की मौत के बाद इस ओर ध्यान गया. तभी से बाघ की तलाश शुरू हो गई. पंजे के निशान से यह आशंका जताई जा रही है कि जानवरों को मारने वाला बाघ हो सकता है. लेकिन वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट देहरादून की रिपोर्ट आने के बाद ही इसकी पुष्टि हो सकेगी.

बाघ की तलाश के लिए बनाई गई टीम: राहत की बात यह है कि बाघ ने किसी इंसान पर हमला नहीं किया है. ऐसे में बाघ आदमखोर नहीं हो सकता. यह भी कहा जा रहा है कि जिस रास्ते पर बाघ के पंजे के निशान मिले हैं, उस रास्ते का इस्तेमाल कभी बाघ आने-जाने के लिए करते होंगे. इको सेंसिटिव जोन घोषित होने के बाद पिछले डेढ़ साल से इस क्षेत्र में कोई विस्फोट नहीं हुआ है, इसलिए यहां बाघ आ सकते हैं. ऐसे में वन विभाग वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में कैमरे लगाने जा रहा है और साथ ही एक विशेष निगरानी टीम भी बनाई गई है जो पूरे इलाके पर नजर रखेगी.

इलाके में बाघ की मौजूदगी आम लोगों के लिए डर का माहौल पैदा कर सकती है. यहां रॉयल बंगाल टाइगर्स बड़ी संख्या में देखे जाते थे. लेकिन समय बीतने के साथ रॉयल टाइगर्स विलुप्त होते गए. अब एक बार फिर इलाके में बाघ मिलने की खबर है, जो राहत की बात है.

यह भी पढ़ें: Video: गढ़वा जिले में बाघ होने की अफवाह, खौफ में कई गांवों के ग्रामीण

यह भी पढ़ें: पीटीआर में चौथे बाघ की एंट्री! कैमरा ट्रैप के फोटो का किया जा है मिलान

यह भी पढ़ें: पलामू टाइगर रिजर्व में एक दशक बाद तीन बाघ की पुष्टि, तीनों बाघ हैं नर, मादा बाघ की मौजूदगी के बाद बढ़ेगी संख्या

Last Updated :Jan 12, 2024, 1:45 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.