गिरिडीहः इलाज के दौरान विचाराधीन कैदी की मौत, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

author img

By

Published : Dec 13, 2019, 4:52 AM IST

गिरिडीहः इलाज के दौरान विचाराधीन कैदी की मौत, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

गिरिडीह के मंडल कारा में विचाराधीन कैदी की इलाज के दौरान रिम्स में मौत हो गई. कैदी को मारपीट के मामले में 1 नवंबर को जेल भेजा गया था. जेल में तबीयत बिगड़ने के बाद इलाज के लिए उसे सदर अस्पताल भेजा गया, जहां से उसे रिम्स रेफर कर दिया गया. रिम्स में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. परिजनों ने जेल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है.

गिरिडीहः रांची के रिम्स में इलाज के दौरान एक विचाराधीन कैदी की मौत हो गयी. मृतक मुफस्सिल थाना इलाके के टिकोडीह निवासी 42 वर्षीय राजेंद्र साव था. राजेंद्र को एक मामले में पिछले 1 नवंबर को ही गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था.

देखें पूरी खबर

यह भी पढ़ें- 14 दिसंबर को अमित शाह पहुंचेंगे बाघमारा, ढुल्लू महतो के लिए मांगेंगे वोट

जानकारी के अनुसार जेल भेजने के बाद जेल के अंदर ही राजेंद्र की तबियत बिगड़ गयी. तबियत बिगड़ने के बाद 4 दिसंबर को जेल प्रबंधन ने उसे सदर अस्पताल भेजा. सदर अस्पताल से उसे रांची के रिम्स रेफर कर दिया गया जहां इलाज के क्रम में बुधवार को उसकी मौत हो गयी. घटना के बाद परिजनों ने मंडल कारा गेट पर पहुंचकर जेल प्रबंधन पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया. मृतक की पत्नी ने कहा कि जिस दिन उसके पति को गिरफ्तार किया गया, उस दिन से उसकी तबियत बिगड़ गयी थी. जेल में भी उसकी तबियत ठीक नहीं थी लेकिन उसका ठीक से इलाज नहीं करवाया गया.

Intro:गिरिडीह. रांची के रिम्स में इलाज के दौरान एक बंदी की मौत हो गयी. मृतक मुफस्सिल थाना इलाके के टिकोडीह निवासी 42 वर्षीय राजेन्द्र साव है. राजेन्द्र को एक मामले में पिछले 1 नवंबर को ही गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. Body:जेल भेजने के बाद जेल के अंदर ही राजेन्द्र की तबियत बिगड़ गयी. तबियत बिगड़ने के बाद 4 दिसंबर को जेल प्रबंधन ने उसे सदर अस्पताल भेजा. सदर अस्पताल से उसे रांची के रिम्स रेफर कर दिया गया जहां इलाज के क्रम में बुधवार को रिम्स में ही उसकी मौत हो गयी. Conclusion:घटना के बाद मृतक के परिजन गुरूवार को मंडल कारा गेट पर आ पहुंचे और इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाने लगे. इस दौरान मृतक की पत्नी छोटकी देवी का कहना था कि जिस दिन उसके पति को गिरफ्तार किया गया उस दिन से उनकी तबियत बिगड़ गयी. जेल में भी उसकी तबियत ठीक नहीं थी लेकिन उनका ठीक से इलाज नहीं करवाया गया. बताया कि राजेन्द्र सीसीएल में काम करता था. उन्होंने जांच की मांग की है. इधर जेल प्रबंधन का कहना है कि तबियत खराब होते ही बंदी को सदर अस्पताल भेज दिया गया था. जहां से बेहतर इलाज के लिये रांची के रिम्स भेजा गया. रिम्स में ही इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी.

बाइट: छोटकी देवी, मृतक की पत्नी
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.