ETV Bharat / state

क्या कागज पर हो रही विकास योजना के मटेरियल की आपूर्ति, गिरिडीह के बिरनी में मिली गड़बड़ी

author img

By ETV Bharat Jharkhand Team

Published : Dec 16, 2023, 10:22 AM IST

Updated : Dec 16, 2023, 12:01 PM IST

Irregularities in MGNREGA in Giridih. गिरिडीह के बिरनी में मनरेगा में मटेरियल आपूर्ति में अनियमितता सामने आई है. मनरेगा में मटेरियल आपूर्ति के नाम पर खेल होता रहा है. समय समय पर इस तरह का मामला सामने आता है, शिकायतों के बाद भी कागजों पर ही सामान की आपूर्ति हो रही है.

Irregularity in material supply in MGNREGA at Birni in Giridih
गिरिडीह के बिरनी में मनरेगा में मटेरियल आपूर्ति में अनियमितता
गिरिडीह के बिरनी में मनरेगा में मटेरियल आपूर्ति में अनियमितता

गिरिडीहः मनरेगा और 15वीं वित्त की योजना में मटेरियल की आपूर्ति को लेकर समय समय पर सवाल उठता रहा है. यह सवाल उठता रहा है कि जो लोग इन योजनाओं में मटेरियल की सप्लाई करते हैं उनके पास प्रतिष्ठान है, स्टॉक है या सिर्फ कागज पर ही सामान की आपूर्ति कर भुगतान लिया जा रहा है.

मार्च महीने के अंतिम सप्ताह में जब गिरिडीह सदर प्रखंड द्वारा नियम विरुद्ध जाकर आपूर्ति मद में करोड़ों का भुगतान किया था. इस मामले को ईटीवी भारत ने सबसे पहले प्रकाशित किया, जिसके बाद डीसी ने जांच शुरू की गयी. अब कुछ इसी तरह का मामला बिरनी प्रखंड से सामने आ रहा है. यहां भी मनरेगा योजना और 15वीं वित्त की योजना में मटेरियल की आपूर्तिकर्ताओं के प्रतिष्ठान की जांच हुई तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं.

दरअसल पिछले दिनों हुई बिरनी प्रखंड पंचायत समिति की बैठक में मटेरियल सप्लायर वेंडर के प्रतिष्ठान और स्टॉक की जांच करने का निर्णय लिया गया. इसी निर्णय के आलोक में प्रखंड विकास पदाधिकारी सुनील वर्मा और प्रखंड के उपप्रमुख शेखर शरण दास ने जांच शुरू की. एक एक कर कई सप्लायर के पास पहुंचे तो दोनों भौचक्क रह गए. इस दौरान उन्होंने देखा कि जो लोग मटेरियल की आपूर्ति करते हैं, उनमें से कइयों के पास स्टॉक तो है ही नहीं. इतना ही नहीं जांच के दौरान आपूर्तिकर्ता में से कई उन वाहनों को भी दिखाने में अक्षम रहे जिनसे वे सामान की आपूर्ति करते हैं.

नदी से लाते हैं बालूः यहां जांच के क्रम में जब एक आपूर्तिकर्ता से पूछा गया कि वे बालू कहां से लाते हैं तो यह कहा गया नदी से बालू उठाते हैं. जांच के बाद उपप्रमुख शेखर शरण दास ने बताया कि चार आपूर्तिकर्ता की जांच हुई है जहां सीधी गड़बड़ी मिली है. उन्होंने कहा कि इस मामले मे कार्रवाई तय है. साथ ही बताया कि सभी 12 आपूर्तिकर्ता की जांच होगी. इस संबंध में बीडीओ आलोक वर्मा ने कहा कि अभी तक की जांच में गड़बड़ी मिली है. जांच पूर्ण होने के बाद अग्रतर कार्रवाई होगी.

इसे भी पढ़ें- Giridih News: मनरेगा में लूट गए मजदूर, मौज काट रहे हैं मेटेरियल सप्लायर!

इसे भी पढे़ं- MGNREGA scam: 7.88 करोड़ निकासी की जांच में परत दर परत खुल रहा है मामला, संदेह के घेरे में डीआरडीए के कर्मी भी

इसे भी पढे़ं- मनरेगा में हो गया मार्च लूट: गिरिडीह ब्लॉक ने की निर्धारित लक्ष्य से 8 गुणा अधिक राशि की निकासी, डीडीसी बोले- होगी कार्रवाई

गिरिडीह के बिरनी में मनरेगा में मटेरियल आपूर्ति में अनियमितता

गिरिडीहः मनरेगा और 15वीं वित्त की योजना में मटेरियल की आपूर्ति को लेकर समय समय पर सवाल उठता रहा है. यह सवाल उठता रहा है कि जो लोग इन योजनाओं में मटेरियल की सप्लाई करते हैं उनके पास प्रतिष्ठान है, स्टॉक है या सिर्फ कागज पर ही सामान की आपूर्ति कर भुगतान लिया जा रहा है.

मार्च महीने के अंतिम सप्ताह में जब गिरिडीह सदर प्रखंड द्वारा नियम विरुद्ध जाकर आपूर्ति मद में करोड़ों का भुगतान किया था. इस मामले को ईटीवी भारत ने सबसे पहले प्रकाशित किया, जिसके बाद डीसी ने जांच शुरू की गयी. अब कुछ इसी तरह का मामला बिरनी प्रखंड से सामने आ रहा है. यहां भी मनरेगा योजना और 15वीं वित्त की योजना में मटेरियल की आपूर्तिकर्ताओं के प्रतिष्ठान की जांच हुई तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं.

दरअसल पिछले दिनों हुई बिरनी प्रखंड पंचायत समिति की बैठक में मटेरियल सप्लायर वेंडर के प्रतिष्ठान और स्टॉक की जांच करने का निर्णय लिया गया. इसी निर्णय के आलोक में प्रखंड विकास पदाधिकारी सुनील वर्मा और प्रखंड के उपप्रमुख शेखर शरण दास ने जांच शुरू की. एक एक कर कई सप्लायर के पास पहुंचे तो दोनों भौचक्क रह गए. इस दौरान उन्होंने देखा कि जो लोग मटेरियल की आपूर्ति करते हैं, उनमें से कइयों के पास स्टॉक तो है ही नहीं. इतना ही नहीं जांच के दौरान आपूर्तिकर्ता में से कई उन वाहनों को भी दिखाने में अक्षम रहे जिनसे वे सामान की आपूर्ति करते हैं.

नदी से लाते हैं बालूः यहां जांच के क्रम में जब एक आपूर्तिकर्ता से पूछा गया कि वे बालू कहां से लाते हैं तो यह कहा गया नदी से बालू उठाते हैं. जांच के बाद उपप्रमुख शेखर शरण दास ने बताया कि चार आपूर्तिकर्ता की जांच हुई है जहां सीधी गड़बड़ी मिली है. उन्होंने कहा कि इस मामले मे कार्रवाई तय है. साथ ही बताया कि सभी 12 आपूर्तिकर्ता की जांच होगी. इस संबंध में बीडीओ आलोक वर्मा ने कहा कि अभी तक की जांच में गड़बड़ी मिली है. जांच पूर्ण होने के बाद अग्रतर कार्रवाई होगी.

इसे भी पढ़ें- Giridih News: मनरेगा में लूट गए मजदूर, मौज काट रहे हैं मेटेरियल सप्लायर!

इसे भी पढे़ं- MGNREGA scam: 7.88 करोड़ निकासी की जांच में परत दर परत खुल रहा है मामला, संदेह के घेरे में डीआरडीए के कर्मी भी

इसे भी पढे़ं- मनरेगा में हो गया मार्च लूट: गिरिडीह ब्लॉक ने की निर्धारित लक्ष्य से 8 गुणा अधिक राशि की निकासी, डीडीसी बोले- होगी कार्रवाई

Last Updated : Dec 16, 2023, 12:01 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.