रोहतक में इंश्योरेंस के नाम पर 17 लाख की ठगी, 3 आरोपी गिरफ्तार

author img

By ETV Bharat Haryana Desk

Published : Dec 29, 2023, 10:04 PM IST

Cyber Fraud in Rohtak

Cyber Fraud in Rohtak: रोहतक में साइबर पुलिस ने इंश्योरेंस के नाम पर बड़ी ठगी करने वाले रैकेट का भंडाफोड़ किया है. इस मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं. पुलिस को शक है कि अभी एक व्यक्ति से ठगी सामने आई है लेकिन आरोपियों से पूछताछ के बाद ये मामला और बड़ा हो सकता है.

रोहतक में इंश्योरेंस के नाम पर 17 लाख की ठगी, 3 आरोपी गिरफ्तार

रोहतक: साइबर पुलिस रोहतक ने बीमा के नाम पर होने वाले फ्रॉड का बड़ा खुलासा किया है. बालियान गांव के रहने वाले पूर्व सैनिक धर्मवीर के साथ 2019 से 2022 के बीच इंश्योरेंस पॉलिसी के नाम पर 17 लाख की ठगी हो गई. पुलिस ने तीन आरोपियों को इस मामले में गिरफ्तार किया है. पकड़े गए आरोपियों की पहचान गाजियाबाद के रहने वाले नदीम और पश्चिम बंगाल के रहने वाले रोहित और विवेक के रूप में हुई है.

साइबर पुलिस की टीम ने आरोपियों से चार लाख नकद, फर्जी सिम और आधा दर्जन एटीएम कार्ड भी बरामद किए हैं. साइबर टीम का दावा है कि इस मामले में कई बड़े खुलासे होने की संभावना है. पुलिस ने तीनों आरोपियों को शुक्रवार को अदालत में पेश कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है. तीनों आरोपी एक लाइफ इंश्योरेंस कंपनी में काम करते थे.

2019 में पूर्व सैनिक धर्मवीर के पास इंश्योरेंस पॉलिसी से संबंधित आरोपियों ने फोन पर बात की थी. जिसमें धर्मवीर को लालच दिया गया कि जो पॉलिसी उसको बेची जा रही है वो कम पैसे में और कम समय में मेच्योर होने वाली है. इसका रिटर्न भी काफी ज्यादा होगा. इसी लालच में धर्मवीर को 6 पॉलिसी बेच दी. आरोपी ग्राहक से पॉलिसी की किस्त लेते रहते थे लेकिन कंपनी में कुछ राशि ही जमा करवाते थे.

आरोपियों ने 2019 से 2022 तक धर्मवीर के साथ 17 लाख की ठगी की. इसके बाद आरोपियों ने धर्मवीर के फोन उठाने बंद कर दिए. पीड़ित ने साइबर थाना रोहतक में इस संबंध में शिकायत दर्ज करवाई थी. जिस पर कार्रवाई करते हुए साइबर टीम ने मामले का खुलासा किया है. रोहतक साइबर टीम इंचार्ज कुलदीप ने बताया कि आरोपी एक इंश्योरेंस कंपनी में काम करते थे. उन्हें वेतन और कमीशन कम मिलता था. इसीलिए ज्यादा पैसा कमाने के लिए इन्होंने ये प्लान बनाया. इसके बाद कंपनी से पूरा डाटा लेकर ग्राहकों को ठगना शुरू कर दिया.

थाना प्रभारी कुलदीप के अनुसार इस गैंग में लगभग 10 से 12 लोग काम कर रहे हैं. अभी तक तीन लोग गिरफ्तार किए गए हैं. बाकी लोगों की तलाश जारी है. पुलिस ने लोगों को आगाह किया है कि वो ऑनलाइन बिकने वाली पॉलिसी की तरफ ज्यादा आकर्षित ना हों. इसमें ठगी के बहुत ज्यादा चांस रहते हैं. उन्होंने कहा कि पीड़ित पुलिस के हेल्पलाइन नंबर 1930 पर इस तरह की वारदात के बारे में तुरंत जानकारी दें तो कुछ ही घंटे में ठगा गया पैसा रिकवर होने की संभावना ज्यादा रहती है.

ये भी पढ़ें- ऑनलाइन नौकरी तलाश रहे हैं तो हो जाएं सावधान, नूंह में साइबर फ्रॉड के 11 आरोपी गिरफ्तार

ये भी पढ़ें- मकान दिलाने के नाम पर ठगी का नया खेल, आपसे कोई ये डॉक्यूमेंट्स मांगे तो हो जाएं सावधान

ये भी पढ़ें- करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले साइबर ठग गिरफ्तार, फरीदाबाद पुलिस ने किया गिरोह का भंडाफोड़

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.