नूंह में हिंसा के बाद गरज रहा मनोहर सरकार का बुलडोजर, पूरे जिले में हो रही अवैध कब्जों पर तोड़फोड़ की कार्रवाई

author img

By

Published : Aug 5, 2023, 6:27 PM IST

Updated : Aug 5, 2023, 8:18 PM IST

nuh-violence

नूंह हिंसा के बाद जिले में तैनात सुरक्षाबलों की मौजूदगी और मनोहर सरकार के निर्देश के बाद स्थानीय प्रशासन ने पूरे जिले में अवैध कब्जों को खिलाफ अभियान छेड़ दिया है. तीन दिनों से जारी कार्रवाई में झुग्गियों से लेकर पक्के मकानों, दुकानों आदि पर भी प्रशासन का बुलडोजर गरज रहा है.

नूंहः नूंह हिंसा के बाद प्रशासन द्वारा विशेष तोड़फोड़ अभियान चलाया गया है। नूंह शहर सहित पुनहाना, पिनगवां, नगीना, फिरोजपुर झिरका, तावडू् सहित जिले में कई जगह पर कार्रवाई की जा रही है. अभियान का शनिवार को तीसरा दिन है. शनिवार को नूंह शहर में कई जगह पीला पंजा चला तो तावडू में भी कार्रवाई हुई. तावडू सोहना मार्ग पर भारी पुलिस बल के साथ बड़े पैमाने पर अवैध कब्जों को लेकर कार्रवाई हुई. इसकी शुरुआत ग्राम पंचायत सहसोला की सीमा से हुई, जहां सबसे पहले कांग्रेस नेता पूर्व विधानसभा प्रत्याशी डॉ शमसुद्दीन के फार्म हाउस का गेट तोड़ा गया.

यह भी पढ़ें- Haryana Nuh Violence: नूंह में हिंसा के बाद गुरुग्राम-अलवर NH पर भी चला प्रशासन का पीला पंजा, अवैध दुकानें जमींदोज

सहसोला बस स्टैंड पर कार्रवाई से स्थानीय ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। तोड़फोड़ अभियान की सूचना मिलते ही दुकानदार अपनी दुकान और खोके से सामान हटा कर ले जाने लगे. इनमें से कुछ लोगों ने प्रशासन के सामने गुहार भी लगाई, महिलाएं प्रशासनिक अधिकारियों के सामने रोते बिलखते हुए गुहार लगाने लगी, लेकिन कार्रवाई नहीं रुकी. इस दौरान तावडू तहसीलदार प्रदीप देशवाल, लोक निर्माण विभाग उप मंडल अभियंता आवेश कुमार, गुरुग्राम से उपमंडल अभियंता मनोज कुमार, अमित कुमार और रेपिड रैपिड एक्शन फोर्स सहित भारी पुलिस बल मौजूद रहा.

nuh-violence
मेवात विकास अभिकरण द्वारा निर्मित दादा सवालिया अमर शहीद पार्क भी तोड़फोड़ अभियान से नहीं बच सका

अवैध कब्जों को लेकर नियमानुसार और सरकार के आदेश पर तोड़फोड़ की कार्रवाई हुई है. मार्ग के साथ अवैध कब्जों को हटाने के लिए पूरे जिले में अभियान चलाया गया है, मार्ग के दोनों तरफ 65 फुट तक ग्रीन बेल्ट में जो भी निर्माण है, वह अवैध है।- संजीव कुमार, उपमंडल अधिकारी तावडू

दुकान मालिक बोले-हमारा हिंसा से कोई लेना-देना नहीं- वही मौके पर पहुंचे स्थानीय दुकान मलिकों ने बताया कि अवैध कब्जे को लेकर प्रशासन की ओर से पहले कोई नोटिस नहीं दिया गया. यह कार्रवाई अचानक की गई है. नूंह हिंसा में उनके परिवार से किसी का कोई लेना देना नहीं है. किसी मुकदमे में परिवार से कोई भी आरोपी नहीं है, फिर भी कार्रवाई की गई है. कांग्रेस विधायक आफताब अहमद ने इस पर सवाल उठाते हुए कहा था कि एक वर्ग विशेष को खुश करने के लिए यह कार्रवाई की जा रही है। यह स्थानीय लोगों के छोटे रोजगार पर सीधी चोट है।

शहीद स्मारक भी हुआ तोड़फोड़ का शिकार- सोहना मार्ग पर ग्राम पंचायत सहसोला बस स्टैंड पर मेवात विकास अभिकरण द्वारा निर्मित दादा सवालिया अमर शहीद पार्क भी तोड़फोड़ अभियान से नहीं बच सका. शनिवार को हुई कार्रवाई के दौरान पीला पंजा यहांं भी चला. तोड़फोड़ के दौरान एक पुलिस जवान की नजर इस पर पड़ी तो उसने जेसीबी चालक को रोका. बता दें कि वर्ष 2010 में ग्राम पंचायत सहसोला में दादा सवालिया यादगार समिति द्वारा एवं अखिल भारतीय शहीदाने सभा ने द्वारा मेवात विकास प्राधिकरण के सहयोग से अमर शहीद पार्क बनाया था, जिसका उद्घाटन 20 फरवरी 2010 को तत्कालीन सोहना विधायक एवं मुख्य संसदीय सचिव चौधरी धर्मवीर सिंह ने किया था.

यह भी पढ़ें- नूंह में बुलडोजर की कार्रवाई: मेडिकल कॉलेज नल्हड़ के सामने दुकानें ढहाई, कांग्रेस विधायक ने जताया विरोध

Last Updated :Aug 5, 2023, 8:18 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.