बीजेपी का संकल्प vs कांग्रेस का वचन पत्र, बीजेपी बहना पर मेहरबान, कांग्रेस का शिक्षा और स्वास्थ्य पर बड़ा दांव

author img

By ETV Bharat Hindi Team

Published : Nov 11, 2023, 5:59 PM IST

Updated : Nov 11, 2023, 7:45 PM IST

JP Nadda issued sankal letter

BJP sankalp VS Congress Vachan Patra: मध्य प्रदेश में कांग्रेस और भाजपा ने अपने-अपने घोषणा पत्रों का ऐलान कर दिया है. भाजपा जहां जनता के लिए संकल्प पत्र लेकर आई, वहीं कांग्रेस ने जनता को कई वचन दिए हैं. भाजपा का पूरा फोकस जहां महिलाओं पर रहा, वहीं कांग्रेस ने शिक्षा और स्वास्थय पर बड़ा दांव खेला है. देखिये भाजपा और कांग्रेस ने जनता से क्या-क्या वादे किए हैं.

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने जारी किया संकल्प पत्र

भोपाल। तो ये तय मानिए कि एमपी में 2023 के चुनाव में बीजेपी-कांग्रेस दोनों दलों का पूरा फोकस केवल महिला वोटर पर है. पहले से ही लाड़ली बहनों को गेमचेंजर मान रही बीजेपी ने अपने संकल्प पत्र में लाड़ली बहनों को आर्थिक मदद के साथ अब पक्के मकान का वादा भी कर दिया है. हालांकि शिक्षा और स्वास्थ्य के मुद्दे पर बीजेपी के संकल्प के मुकाबले कांग्रेस ने लुभाने वाला वचन पत्र पेश किया. जिसमें स्कूली बच्चों को हर महीने पांच सौ रुपए से पंद्रह सौ रुपए की 'पढ़ो कमाओ योजना' के साथ हर नागरिक को 25 लाख का स्वास्थ्य बीमा और दस लाख का दुर्घटना बीमा देने का वादा किया था.

वचन पर विश्वास या संकल्प पर भरोसा: वोटिंग के पांच दिन पहले एमपी के वोटर के सामने दोनों दलों का घोषणा पत्र मौजूद है. जनता कांग्रेस के वचन पर विश्वास करेगी या बीजेपी के संकल्प पर भरोसा जताएगी. अभी ये कहना मुश्किल है, लेकिन दोनों दलों ने अपने अपने वादों का जाल डाल दिया है. दोनों ही पार्टियों का फोकस महिला वोटर के बाद नौजवान और किसान हैं. बीस साल पुरानी सरकार के लिए बीजेपी जिसे गेमचेंजर मान रही है लाड़ली बहना योजना में पार्टी ने उसी योजना को आगे बढ़ाया है...और अपने संकल्प पत्र का बड़ा हिस्सा महिलाओं को समर्पित किया है.

bjp sankalp patra
भाजपा का संकल्प पत्र

लाड़ली बहनों को पक्के मकान का भी वादा: सबसे बड़ा ऐलान, महिला वोटर के लिए अब हर महीने की आर्थिक सहायता के साथ लाड़ली बहनों को पक्के मकान का भी वादा. कांग्रेस पहले ही महिलाओं को डेढ हजार रुपए प्रतिमाह के साथ पांच सौ रुपए में गैस सिलेंडर का वादा कर चुकी है. एमपी के करीब पांच करोड़ साठ लाख साठ हजार 925 वोटर्स में इस बार महिला वोटर की तादात दो करोड़ 72 लाख 33 हजार 945 तक पहुंच गई है. खास बात ये है कि एमपी के 41 जिलें ऐसे हैं जहां महिला वोटर ही चुनाव में निर्णायक है. इस लिहाज से ये वोटर गेंमचेंजर भी हैं.

Also Read:

स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में वचन...कांग्रेस बीजेपी से आगे: स्वास्थ्य और शिक्षा इन दो बुनियादी मुद्दों को देखें तो कांग्रेस के वचन बीजेपी के संकल्प से ज्यादा लुभावने दिखाई देते हैं. बीजेपी ने मुफ्त शिक्षा की बात की है तो कांग्रेस 'पढ़ो पढ़ाओ योजना' में पाचं सौ पंद्रह सौ रुपए की स्कूली बच्चों को आर्थिक सहायता देगी. कमोबेश स्वास्थ्य के मामले में भी यही स्थिति है. कांग्रेस ने वचन दिया है कि अगर उनकी पार्टी सरकार में आती है तो स्वास्थ्य के अधिकार को कानून की शक्ल दी जाएगी. वहीं, नागरिकों के लिए 25 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा और दस लाख रुपए का दुर्घटना बीमा देने का भी वादा किया है.

Congress vachan patra
कांग्रेस का वचन पत्र

बुजुर्गों को कांग्रेस 1200, बीजेपी 1500 रु पेंशन देगी: बुजुर्गों की चिंता कांग्रेस बीजेपी दोनों के मैनिफैस्टों में है. कांग्रेस ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन एक हजार से बढ़ाकर बारह सौ करने का वादा किया है तो इधर बीजेपी ने कहा है कि फिर सत्ता में आने पर बुजुर्गों की पेंशन पंद्रह सौ रुपए कर दी जाएगी.

Last Updated :Nov 11, 2023, 7:45 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.