पत्नी ने रची पति की हत्या की खौफनाक साजिश, झोलाछाप डॉक्टर से दिलवाया मौत का इंजेक्शन

author img

By ETV Bharat Chhattisgarh Desk

Published : Jan 20, 2024, 4:11 PM IST

Wife murdered husband in Raigarh

Wife murdered husband in Raigarh धरमजयगढ़ कॉलोनी के राजेश बिश्वास मौत मामले में धरमजयगढ़ पुलिस और रायगढ़ साइबर सेल की टीम को सफलता मिली है. बालाजी हॉस्पिटल मोवा रायपुर के ट्रॉमा सेंटर के मेल स्टाफ नर्स, मृतक की पत्नी,उसकी सहेली और धरमजयगढ़ निवासी एक अन्य पुरुष मित्र सहित कुल 4 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. हॉस्पिटल की इमरजेंसी से चुराई गई एनेस्थीसिया दवा के ओवरडोज का इस्तेमाल कर अपने पुरुष मित्रों के साथ प्लानिंग कर इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया था.

पत्नी ने रची पति की हत्या की खौफनाक साजिश

रायगढ़ :16 जनवरी को रायगढ़ जिले के धरमजयगढ़ थाना क्षेत्र में धरमजयगढ़ कॉलोनी के 33 वर्षीय युवक राजेश विश्वास का शव उसके घर पर संदिग्ध परिस्थितियों में मिला था. जिसकी सूचना उसके परिजनों ने धरमजयगढ़ थाना में दी थी.शुरुआती जांच में मृतक के शरीर में किसी भी तरह के चोट का निशान नहीं होने से हार्ट अटैक से मौत होने की संभावना जताई जा रही थी. लेकिन धरमजयगढ़ पुलिस ने पंचनामा कार्यवाई दौरान मृतक के सीने में 6 बारीक निशान देखें.जो किसी सुई के थे.

संदिग्ध हालत में मिला था शव : मामला संदिग्ध दिखने के कारण पीएम की वीडियोग्राफी करवाई गई. इस दौरान जहां जहां निशान थे. वहां के इंटरनल बॉडी पार्ट्स पर नुकसान होना दिखाई दिया. विशेषकर हार्ट को चोट पहुंचने के कारण आंतरिक रक्तस्राव के कारण मृतक की मृत्यु होने की संभावना डॉक्टर्स ने जताई. थाना प्रभारी धरमजयगढ़ अमित तिवारी ने वरिष्ठ अधिकारियों को इस मामले के बारे में बताकर सूक्ष्मता से जांच शुरु की. रायगढ़ एसएसपी सदानंद कुमार ने एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा की मॉनिटरिंग में साइबर की एक टीम को भी सबूत जुटाने के लिए लगाया.

मामले में पत्नी की हरकतों से पुलिस का बढ़ा शक : पुलिस ने जब पूछताछ शुरु की तो मृतक की पत्नी प्रिया विश्वास की भूमिका संदिग्ध नजर आ रही थी. क्योंकि मोबाइल में काफी डिलीटेड डाटा दिखाई दिया. जिसे रिकवर करने के बाद घटना दिनांक के दौरान मिली गतिविधियों ने शक को और पुख्ता कर दिया. इसके बाद प्रिया से पूछताछ करने पर उसने हत्या की बात कबूल कर ली.

क्यों की गई थी हत्या ? : प्रिया और उसका पति राजेश कई महीने पहले लीवर संबंधी समस्या की वजह से मोवा रायपुर के बालाजी हॉस्पिटल गए थे. जहां राजेश लगभग एक माह तक एडमिट रहा. वहीं उसकी पत्नी प्रिया और ट्रॉमा के स्टाफ नर्स फिरीज यादव उर्फ कृष के मध्य दोस्ती हुई. फिरिज यादव उर्फ कृष अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स में खुद को डॉक्टर होना बताता है.साथ ही एक फर्जी झोलाछाप क्लिनिक लोधीपारा इलाके में चलाता है. प्रिया के मुताबिक वो अपने पति के शराब पीने से परेशान थी.जब भी पति शराब पीकर प्रताड़ित करता प्रिया सारी बातें फिरिज को बताती.

हत्या में कौन-कौन हुआ शामिल : वहीं प्रिया की बेस्ट फ्रेंड पड़ोस की पायल विश्वास भी फिरीज यादव से प्रिया के माध्यम से जुड़ने के बाद बातचीत करने लगी थी. प्रिया और पायल ने तय करके फिरिज से बात की और अपने एक अन्य दोस्त शेख मुईन खान को भी सारी बातें बताई.इसके बाद चारों ने मिलकर एनस्थीसिया का ओव्हर डोज देकर राजेश की हत्या का प्लान बनाया.

कैसे की गई हत्या ? प्लान के मुताबिक फिरीज के रुकने की व्यवस्था करने पायल ने कुछ पैसे नकद और फोन पे के जरिए मुईन खान को दिए थे. मुईन ने खुद के स्थानीय होने का फायदा उठाते हुए धरमजयगढ़ के होटल सीएम पार्क में अपनी आईडी से फर्जी गेस्ट के नाम से रूम बुक किया. वहीं फिरीज यादव उर्फ कृष बस से 14 जनवरी की रात में धरमजयगढ़ पहुंचा.जहां मुईन ने उसे होटल में रुकवाया. बाद में व्हाट्सएप कॉल के जरिए बात करते हुए चारों ने 15 जनवरी की रात तक राजेश की गतिविधियों और रूटीन पर नजर रखी.

सीने में इंजेक्ट किए तीन ओव्हरडोज इंजेक्शन : 15 जनवरी की रात को जब राजेश शराब पीकर सो गया उसके बाद प्रिया और पायल ने अपने साथी मुईन और फिरीज उर्फ कृष को अपने घर पर बुलाया.जहां पायल ने बाहर रेकी की. वहीं प्रिया ने राजेश के पैरों को पकड़ा और मुईन ने हाथों को.इसके बाद फिरीज ने पहले से ही तैयार किए गए दवाईयों को राजेश के सीने में इंजेक्ट कर दिया.इसके पंद्रह मिनट बाद राजेश की मौत हो गई.फिरिज ने राजेश की नब्ज चेक की और मरने की पुष्टि करके सभी वापस चले आए.

चारों आरोपियों की हुई गिरफ्तारी : मामले में धारा 302, 201, 120बी के तहत अपराध दर्ज कर सभी चारों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. थाना प्रभारी निरीक्षक अमित तिवारी के नेतृत्व में मृतक की पत्नी प्रिया विश्वास और उसकी सहेली पायल विश्वास को उनके धरमजयगढ़ के निवास से गिरफ्तार किया गया. वहीं मुईन खान को छाल हाटी रोड पर घेराबंदी करके पकड़ा गया. वहीं घटना के बाद से फिरीज यादव उर्फ कृष रायपुर में छिपा था. जिसे प्रिया विश्वास को उठाते ही भनक लग गई थी. लिहाजा रायपुर पुलिस की मदद से फिरिज यादव को मुखबिर के माध्यम से गिरफ्तार किया.

मनेंद्रगढ़ चिरमिरी भरतपुर में मवई नदी पर रेत माफिया का जुल्म, कब होगी कार्रवाई ?
कांकेर के दूध नदी में रेत खनन का खेल, रात के अंधेरे में जेसीबी से हो रही खुदाई
शिवरीनारायण में रेत के अवैध खनन पर खनिज विभाग का छापा
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.