'केके पाठक की वापसी शिक्षा व्यवस्था के लिए शुभ संकेत', मांझी ने नीतीश का जताया आभार

author img

By ETV Bharat Bihar Desk

Published : Jan 21, 2024, 2:08 PM IST

Updated : Jan 21, 2024, 2:17 PM IST

जीतन राम मांझी

Jitan Ram Manjhi On KK Pathak: बिहार की शिक्षा व्यवस्था को लेकर सवाल हमेशा उठते रहे हैं और सराकार की किरकिरी भी खूब हुई है, लेकिन इस बार एक कर्मठ आईएएस और शिक्षा विभाग के सचिव केके पाठक के इस्तीफे के बाद भी उन्हें दोबारा विभाग में बुलाकर नीतीश ने बड़ा काम किया है, जिसकी हर जगह तारीफ हो रही है. जीतन राम मांझी ने भी ट्वीट कर नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया है.

  • के.के.पाठक जी वापसी बिहार के गरीबों,वंचितों खास कर दलितों के शिक्षा के लिए शुभ संकेत है।
    वैसे लालू यादव जी का कुनबा नहीं चाहता था कि यह तबक़ा पढ़े।
    बदलाव के लिए धन्यवाद नीतीश जी।अच्छे काम की तारीफ होनी चाहिए।
    पाठक जी जैसे पदाधिकारी यदि मुख्य सचिव बन जाएं तो राज्य का भला हो जाएगा।

    — Jitan Ram Manjhi (@jitanrmanjhi) January 21, 2024 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

पटनाः शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक की विभाग में वापसी हो गई है. सीएम नीतीश ने उन्हें आखिरकार मना ही लिया और इसके साथ ही शिक्षा मंत्री चंद्रेशखर से शिक्षा विभाग ले लिया. उनकी जगह पर अब आलोक महता को ये विभाग दिया गया है. चंद्रेशखर को गन्ना विभाग मिला है. नीतीश कुमार के इस फैसले से अभिभावक और कई शिक्षक भी खुश हैं, साथ ही राजनीतिक हल्के में आरजेडी के बैकफुट पर आने की बात कही जा रही है.

मांझी ने किया नीतीश का धन्यवादः का इस बीच हम के संरक्षक जीतन राम मांझी ने भी अपने एक्स अकाउंट पर नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया है, उन्होंने लिखा की अच्छे काम की तारीफ होनी चाहिए. के.के.पाठक जी की वापसी बिहार के गरीबों, वंचितों खास कर दलितों के शिक्षा के लिए शुभ संकेत है है. शिक्षा विभाग को ऐसे ही आईएएस की जरूरत है.

"के.के.पाठक जी वापसी बिहार के गरीबों, वंचितों खास कर दलितों के शिक्षा के लिए शुभ संकेत है. वैसे लालू यादव जी का कुनबा नहीं चाहता था कि यह तबका पढ़े. बदलाव के लिए धन्यवाद नीतीश जी.अच्छे काम की तारीफ होनी चाहिए. पाठक जी जैसे पदाधिकारी यदि मुख्य सचिव बन जाएं तो राज्य का भला हो जाएगा"- जीतन राम मांझी, संरक्षक, हम

केके पाठक से मांझी ने की थी ये मांगः आपको बता दें कि इससे पहले भी बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने केके पाठक की तारीफ करते हुए उनसे एक मांग की थी. जीतन राम मांझी ने अपने एक्स अकाउंट पर लिखा था कि "वैसे तो केके पाठक साहब शिक्षा के दिशा में अद्वितीय काम कर रहें हैं. पर यदि वह एक काम और कर दें तो शिक्षा के क्षेत्र में एतिहासिक सुधार हो जाएगा. मुख्य सचिव का बच्चा हो या चपरासी का, विधायक का बच्चा हो या मंत्री का, सरकार से वेतन उठाने वालों के बच्चे सरकारी स्कूल में ही पढ़ेंगे."

ये भी पढ़ेंः

CM नीतीश ने चंद्रशेखर से छीना शिक्षा विभाग, आलोक मेहता को मिला जिम्मा

नवनियुक्त BPSC शिक्षकों की गुहार- 'केके पाठक सर प्लीज विभाग में लौट आईये'

शिक्षा मंत्री ने भरे मंच से जंगलराज कहने वालों को दी गाली, केके पाठक को लेकर कही बड़ी बात

10 साल का बच्चा बना KK पाठक का फैन, तारीफ में लिख डाले कई गीत, तबले की थाप पर करता है गुणगान

Last Updated :Jan 21, 2024, 2:17 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.