Begusarai News: हरकी पौड़ी से सुंदर बनेगा सिमरिया गंगा धाम, CM नीतीश ने किया सौंदर्यीकरण का शिलान्यास

author img

By

Published : May 30, 2023, 6:39 PM IST

laid foundation stone of Simaria Dham IN Begusarai

सीएम नीतीश कुमार ने बेगूसराय में गंगा नदी के तट पर स्थित सिमरिया धाम स्थल पर सीढ़ी घाट निर्माण और सौंदर्यीकरण कार्य का शिलान्यास किया. इस दौरान नीतीश कुमार ने कहा कि इसके बन जाने से लोगों को सुविधा होगी. अगले साल नवंबर से पहले बनकर तैयार हो जाएगा. यह देखने में हरिद्वार के हरकी पौड़ी से भी सुंदर होगा.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

बेगूसराय: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बेगूसराय जिले के सिमरिया धाम में 114.97 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होनेवाले गंगा नदी के बायें तट पर सीढ़ी घाट एवं सौंदर्यीकरण कार्य का शिलापट्ट अनावरण कर कार्यारंभ किया. इस दौरान मुख्यमंत्री ने मोक्षदायिनी मां गंगा की पूजा-अर्चना कर उन्हें नमन किया. पुरोहितों द्वारा गंगा आरती की गई. मुख्यमंत्री ने कहा कि सिमरिया धाम का विकास तेजी से किया जाए और इसके लिए राशि की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी.

पढ़ें- Simariya Dham: 114.97 करोड़ रुपये की लागत से होगा सिमरिया धाम का विकास, आज CM नीतीश करेंगे शिलान्यास

सिमरिया धाम का सीएम ने किया शिलान्यास: कार्यारंभ के शुभ अवसर पर मुख्यमंत्री ने सिमरिया गंगा घाट का निरीक्षण भी किया. इस दौरान जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने सिमरिया गंगा तट पर निर्मित होने वाली सीढ़ी घाट एवं सौंदर्यीकरण के साथ साथ आवागमन मार्ग, गंगा नदी का बहाव आदि के संबंध में मुख्यमंत्री को मैप के माध्यम से विस्तृत जानकारी दी. निरीक्षण के क्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि सिमरिया तट पर गंगा नदी का फ़्लो निरंतर बना रहे और यहां श्रद्धालुओं को हर समय गंगा जल की उपलब्धता आसानी से हो इसके लिए आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करें.

"सिमरिया धाम काफी प्रसिद्ध है और यह लोगों की आस्था का बड़ा केंद्र है. यहां न सिर्फ स्थानीय लोग ही आते बल्कि बड़ी संख्या में उत्तर बिहार और नेपाल से भी श्रद्धालु पहुंचते हैं. श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की असुविधा ना हो इसको ध्यान में रखते हुए सभी जरूरी काम सुनिश्चित कराए जाए. आज कार्य का शुभारंभ किया जा रहा है. हम चाहते हैं कि यह काम जल्द से जल्द पूरा हो. इसके लिए जितने लोगों की आवश्यकता हो उन्हें इस काम में लगाया जाए ताकि नवंबर 2024 मे यहां श्रद्धालुओं द्वारा किए जाने वाले स्नान से पहले यह काम पूरा हो जाए."- नीतीश कुमार, मुख्यमंत्री, बिहार

550 मीटर लंबाई में सीढ़ी घाट का होगा निर्माण: नीतीश कुमार ने आगे कहा कि यहां श्रद्धालुओं को सभी मूलभूत सुविधाएं एवं सहूलियत उपलब्ध कराई जाएगी. इसके लिए जितने पैसे की जरूरत होगी राज्य सरकार उपलब्ध कराएगी. बताते चलें कि जल संसाधन विभाग के इस योजना के तहत होने वाले सौंदर्यीकरण का कार्य के माध्यम से सिमरिया में राजेंद्र सेतु और निर्माणाधीन सिक्स लेन पुल के बीच में गंगा नदी के बाएं तट क्षेत्र में श्रद्धालुओं के लिए विभिन्न सुविधाओं का निर्माण कराया जाएगा. तकरीबन 550 मीटर लंबाई में सीढ़ी घाट का निर्माण किया जाएगा.

श्रद्धालुओं और साधु-संतों को होगी सहूलियत: योजना में रिवरफ्रंट का विकास, स्नान घाट के पास चेंजिंग रूम का निर्माण, स्नान घाट के समानांतर सुरक्षा व्यवस्था, गंगा आरती के लिए स्थान का निर्माण, धार्मिक अनुष्ठान के लिए मंडप का निर्माण, श्रद्धालुओं के लिए बैठने की व्यवस्था एवं लैंडस्पेकिंग शौचालय परिसर, धर्मशाला परिसर ,वॉच टावर ,पाथ वे एवं प्रकाश की व्यवस्था का निर्माण भी शामिल है. इस काम के पूर्ण हो जाने पर सिमरिया गंगा घाट पर स्नान मुंडन और धार्मिक अनुष्ठान के लिए आने वाले श्रद्धालु एवं साधु-संतों को काफी सहूलियत होगी.

उत्तरवाहिनी गंगा होने के चलते धार्मिक महत्व: बताते चले की मिथिलाचल का अंतिम छोर माने जाने वाले बिहार ही नहीं देश भर मे आस्था का प्रमुख केंद्र सिमरिया के लिए मंगलवार का दिन बेहद ही खास था. मंगलवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सिमरिया पहुंचे जहाँ उन्होंने 550 मीटर लंबाई में सीढ़ी घाट के निर्माण के साथ-साथ संपूर्ण कल्पवास क्षेत्र में श्रद्धालुओं के लिए विभिन्न सुविधाओं के साथ रिवर फ्रंट का शिलान्यास किया. बेगूसराय जिला स्थित सिमरिया धाम में उत्तरवाहिनी गंगा होने के कारण इसका काफी धार्मिक महत्व है. हर साल कार्तिक महीने मे यहां कल्पवास मेले की परंपरा सदियों से चली आ रही है. सिमरिया कल्पवास मेले को एक दशक से अधिक से राजकीय मेला का दर्जा प्राप्त है. वही यहां वर्ष 2011 में अर्ध कुंभ और 2017 में महाकुंभ का भी आयोजन हो चुका है.

हरिद्वार के तर्ज पर हरकी पौड़ी जैसा दिखेगा दृश्य: सुविधाओं के विकास होने पर सिमरिया धार्मिक पर्यटन का एक प्रमुख केंद्र बनेगा. उम्मीद की जा रही है कि इसे हरिद्वार के हरकी पौड़ी की तरह इसे विकसित किया जाएगा. कुल मिलाकर यह योजना मिथिला सहित संपूर्ण बिहार के लोगों के लिए एक बड़ा तोहफा साबित होगा. इस दौरान नीतीश कुमार ने बताया कि उनकी इच्छा है कि इस इलाके का जल्द से जल्द विकास हो जाए ताकि बड़ी संख्या में जो लोग यहां पूजा-पाठ और संस्कार करने आते हैं, उन्हें तमाम तरह की सुविधाएं मिल पाए. यहां पर पेरलल सिक्स लेन पुल बन रहा है. उसी के बीच का जो हिस्सा है उसको विकसित किया जाय. वहीं 12 जून को विपक्षी दलों की बैठक के संबंध पूछे गए एक सवाल पर मुख्यमंत्री झेप गए और वहां से मुस्कुराते हुए निकल गए.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.