ETV Bharat / state

एक भाई की मौत की खबर सुनकर दूसरे भाई ने भी तोड़ा दम, एक ही चिता पर किया गया दाह संस्कार - Two brothers died in Bhiwani

author img

By ETV Bharat Haryana Team

Published : Jun 15, 2024, 7:33 PM IST

Two Brothers Died in Bhiwani: भिवानी में दो भाइयों की मौत का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि एक भाई की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. तो दूसरे को उसकी मौत का गम इतना लगा कि उसका भी निधन हो गया. जिसके बाद दोनों भाइयों का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया गया. ग्रामीणों ने बताया कि 400 साल पहले भी ऐसी घटना घट चुकी है.

Two Brothers Died in Bhiwani
Two Brothers Died in Bhiwani (ईटीवी भारत भिवानी)

भिवानी: हरियाणा में भिवानी के जुई कस्बा इलाके से दुखद खबर सामने आई है. जहां एक भाई की मौत की खबर सुनकर दूसरे भाई की भी मौत हो गई. इस इलाके में 400 साल पहले भी ऐसी ही घटना घटी थी. आज फिर ग्रामीणों की जुबान पर यही बात थी.

दो भाइयों की एक साथ मौत: जानकारी के मुताबिक, कस्बा जुई के मनोज सोनी की दो दिन पहले किसी बीमारी के कारण अस्पताल में भर्ती किया गया था. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. जब उसकी मौत की खबर बड़े भाई ओमप्रकाश (56) को लगी तो उसने भी अपने भाई के निधन से आहत होकर दम तोड़ दिया. यह खबर आग की तरह गांव में फैल गई. दोनों भाइयों को एक साथ कस्बा जुई के रामबाग में एक चिता पर मुखाग्नि दी गई. इस दौरान हर किसी की आंखें नम थी.

400 साल पहले भी घटी थी ऐसी ही घटना: ग्रामीणों ने बताया कि ओमप्रकाश के दो बेटे व मनोज की एक बेटी है. ये कुल पांच भाई थे. जिनमें दो भाइयों की पहले ही मौत हो चुकी है. वहीं, आज एक साथ दोनों भाइयों का अंतिम संस्कार किया गया. एक भाई विनोद के भी दिल में दर्द होने के चलते वाल्व डल चुके हैं. दो भाइयों का यूं एक साथ चले जाना गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है. ग्रामीणों ने बताया कि इतिहास में ऐसा पहले भी हो चुका है. उन्होंने बताया कि इस घटना से गांव में शोक की लहर है.

भिवानी: हरियाणा में भिवानी के जुई कस्बा इलाके से दुखद खबर सामने आई है. जहां एक भाई की मौत की खबर सुनकर दूसरे भाई की भी मौत हो गई. इस इलाके में 400 साल पहले भी ऐसी ही घटना घटी थी. आज फिर ग्रामीणों की जुबान पर यही बात थी.

दो भाइयों की एक साथ मौत: जानकारी के मुताबिक, कस्बा जुई के मनोज सोनी की दो दिन पहले किसी बीमारी के कारण अस्पताल में भर्ती किया गया था. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. जब उसकी मौत की खबर बड़े भाई ओमप्रकाश (56) को लगी तो उसने भी अपने भाई के निधन से आहत होकर दम तोड़ दिया. यह खबर आग की तरह गांव में फैल गई. दोनों भाइयों को एक साथ कस्बा जुई के रामबाग में एक चिता पर मुखाग्नि दी गई. इस दौरान हर किसी की आंखें नम थी.

400 साल पहले भी घटी थी ऐसी ही घटना: ग्रामीणों ने बताया कि ओमप्रकाश के दो बेटे व मनोज की एक बेटी है. ये कुल पांच भाई थे. जिनमें दो भाइयों की पहले ही मौत हो चुकी है. वहीं, आज एक साथ दोनों भाइयों का अंतिम संस्कार किया गया. एक भाई विनोद के भी दिल में दर्द होने के चलते वाल्व डल चुके हैं. दो भाइयों का यूं एक साथ चले जाना गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है. ग्रामीणों ने बताया कि इतिहास में ऐसा पहले भी हो चुका है. उन्होंने बताया कि इस घटना से गांव में शोक की लहर है.

ये भी पढ़ें: फरीदाबाद में फिरौती के लिए 13 साल के मासूम का मर्डर, पिता के दोस्त पर हत्या का आरोप, परिजनों ने किया हंगामा - child murdered in faridabad

ये भी पढ़ें: कुरुक्षेत्र में युवक से विदेश भेजने के नाम पर लाखों की ठगी, पंजाब का आरोपी गिरफ्तार

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.