ETV Bharat / state

सूखी नदी में रोजाना गड्डे खोदकर करते हैं पानी की जुगाड़, पन्ना जिले के मुडवारी में नल जल योजना कागजों में - Panna drinking water crisis

author img

By ETV Bharat Madhya Pradesh Team

Published : Apr 11, 2024, 6:49 PM IST

पन्ना जिले के मुडवारी के ग्रामीण सालभर पेयजल संकट से जूझते हैं. गांव के पास लगी नदी सूख गई है. इसी सूखी नदी में रोजाना गड्डे खोदकर पेयजल की जुगाड़ ग्रामीणों को करनी पड़ती है.

Panna drinking water crisis
पन्ना जिले के मुडवारी के ग्रामीण सालभर पेयजल संकट से जूझते हैं

सूखी नदी में रोजाना गड्डे खोदकर करते हैं पानी की जुगाड़

पन्ना। मध्यप्रदेश के कई गांवों में नल जल योजना केवल कागजों में चल रही है. गांवों में लोग पेयजल के लिए परेशान हैं. पन्ना जिले की पवई विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत मुडवारी के बाजार मोहल्ला की हरिजन बस्ती में पेयजल संकट है. यहां रहने वाले सैकड़ों लोग प्रतिदिन लगभग 1 किलोमीटर दूर स्थित सूखी नदी में गड्ढा खोदकर झिरते पानी से प्यास बुझाते हैं. गड्ढे खोदकर लोग इसी में से पानी की जुगाड़ करते हैं. सुबह से लेकर देर शाम तक यही क्रम चलता रहता है.

Panna drinking water crisis
इस प्रकार गड्ढों से निकालते हैं पानी
Panna drinking water crisis
सूखी नदी में रोजाना गड्डे खोदकर पानी की जुगाड़

नल जल योजना के दावों की हवा निकली

सैकड़ों लोग महिलाओं, बच्चों व बुजुर्गों के साथ प्रतिदिन पीने के पानी के लिए संघर्ष करते हैं. इस गांव में कहावत सच होती दिख रही है कि "रोज कुआं खोदो और रोज पानी पियो". जिले में भले ही नल जल योजना चल रही है. लोक यांत्रिकी स्वास्थ्य विभाग एवं जल निगम द्वारा गांव में स्वच्छ पीने का जल पहुंचाने के लिए लाख वादे किए जाते हैं पर जमीनी हकीकत इससे बिलकुल विपरीत दिखाई दे रही है. ये हालत तब हैं जब बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा यहां से 5 साल तक सांसद रहे और अब फिर से चुनाव लड़ रहे हैं.

Panna drinking water crisis
पानी के लिए गुस्साए ग्रामीणों ने सौंपा ज्ञापन

ये खबरें भी पढ़ें...

इंदौर समेत एमपी के 86 ब्लॉक तरसेंगे पानी के लिए, वॉटर लेवल गिरने से हालात बिगड़ने का अलर्ट

राजगढ़ का अनोखा कुंआ जिसमें सैकड़ों मोटर डाल, बांस-बल्लियों से बुझती है 700 लोगों की प्यास

ग्रामीणों ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी

ग्रामीणों का कहना है कि सालभर यहां पेयजल की समस्या है. कहीं कोई सुनवाई नहीं होती. पेजयल के लिए परेशान होकर ग्रामीणों का सब्र जवाब दे गया और वे एकत्रित होकर पंचायत भवन पहुंचे और अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन में कहा गया है कि सालों से शिकायत करते आ रहे हैं पर समस्या का समाधान नहीं हुआ. यदि अब समस्या का समाधान नहीं हुआ तो हम लोग उग्र आंदोलन और भूख हड़ताल करेंगे.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.