ETV Bharat / state

मेरठ का युवक युगांडा में बंधक, वीडियो जारी कर केंद्र सरकार से मांगी मदद, कहा- भारतीयों को बंधक बनाकर किया जा रहा प्रताड़ित - Meerut youth HOSTAGE IN UGANDA

author img

By ETV Bharat Uttar Pradesh Team

Published : Jun 22, 2024, 7:36 PM IST

युगांडा में काम करने गये 7 भारतीयों को बंधक बनाकर प्रताड़ित किए जाने का मामला सामने आया है. बंधकों में एक मेरठ का भी युवक शामिल है. जिसने एक्स पर वीडियो जारी कर भारत सरकार से पहल कर रिहा कराने की अपील की है.

7 भारतीय युगांडा में बंधक
7 भारतीय युगांडा में बंधक (PHOTO Source ETV BHARAT)
बंधक बनाए गए युवक ने सरकार से मांगी मदद (Video Source ETV BHARAT)

मेरठ: मेरठ के एक युवक अशोक शर्मा को अफ्रीकी देश युगांडा में बंधक बनाए जाने का मामला सामने आ रहा है. युवक ने सोशल मीडिया एक्स पर एक वीडियो पोस्ट किया है. जिसमें उसने भारत सरकार से मदद मांगी और वापस बुलाने की अपील की. अशोक शर्मा ने युगांडा में बंधक बनाकर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. साथ ही बताया कि, उनके दस्तावेज भी ले लिए गए. और पुलिस से पकड़वाने की धमकी दी जा रही है.

जिले के सरधना तहसील इलाके के कस्बा करनावल निवासी अशोक शर्मा पुत्र राजकुमार ने 38 सेकेंड की एक वीडियो शेयर किया है. वीडियो में अशोक ने बताया कि, वह युगांडा में नौकरी करने गया था. वहां काम करने के दौरान कंपनी को उनका काम पसंद नहीं आया. जिसके चलते उसे प्रताड़ित किया जा रहा है. पुलिस के झूठे केस में गिरफ्तार करने की धमकी देकर उन्हें बंधक बनाया हुआ है. अशोक ने जब कंपनी के लोगों से भारत भेजने की बात कही तो, उन लोगों ने परेशान करना शुरू कर दिया है. अशोक ने यह भी बात कही कि, यूपी के अलावा उत्तराखंड, हरियाणा और बिहार के युवक भी गए हैं. युवक ने वीडियो में भावुक होते हुए भारत सरकार से देश वापस बुलाने की अपील की है.

वहीं, अशोक के भाई राहुल ने बताया कि, पांच मार्च को कुल सात लोग शुगर मिल में नौकरी करने गए थे. आरोप लगाया कि, खतौली निवासी एक युवक ने खुद को युगांडा की जीएस शुगर मिल का जीएम बताकर उन्हें नौकरी दिलाने की बात कहकर साथ ले गया था. अशोक के साथ उत्तर प्रदेश के कुल चार, उत्तराखंड, हरियाणा और बिहार से एक-एक युवक भी साथ गए थे.

अशोक ने परिजनों को बातचीत में कहा कि, सभी को एक कमरे में बंधक बनाकर प्रताड़ित किया जा रहा है. परिजनों से छोड़ने की एवज में पांच लाख रुपए मंगवाने का दबाव बनाया जा रहा है. अशोक ने बुधवार सुबह वीडियो परिजनों को भेजी थी. वहीं, वीडियो मिलने के बाद परिवार के सभी लोग चिंतित है. उन्होंने भी केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई है.

वहीं, राज्यसभा सांसद लक्ष्मीकांत वाजपेई ने विदेश मंत्रालय में पत्र लिखा है. जिसमें उन्होंने लिखा कि युगांडा में 7 भारतीय फंसे हैं. उन्हें वापस लाने का प्रयास किया जाए. मेरठ के करनावल निवासी अशोक शर्मा, पटना के मृत्युंजय कुमार, हरियाणा के ऋषि पाल, उत्तराखंड निवासी योगेंद्र कुमार, मुजफ्फरनगर के योगेश कुमार, सहारनपुर के जसवीर सिंह हैं. जिनको जीएस शुगर लिमिटेड ने भट्टी में झोंकने की धमकी दी गई है. इन लोगों के पासपोर्ट और दस्तावेज भी जब्त कर लिए हैं. जल्द से जल्द जीएस शुगर लिमिटेड से वार्ता कर इन लोगों को भारत वापस लाया जाए.

ये भी पढ़ें:दबंगों ने नाबालिग को दी तालिबानी सजा, चार घंटे तक बंधक बनाकर बेल्ट और डंडे से से पीटा

बंधक बनाए गए युवक ने सरकार से मांगी मदद (Video Source ETV BHARAT)

मेरठ: मेरठ के एक युवक अशोक शर्मा को अफ्रीकी देश युगांडा में बंधक बनाए जाने का मामला सामने आ रहा है. युवक ने सोशल मीडिया एक्स पर एक वीडियो पोस्ट किया है. जिसमें उसने भारत सरकार से मदद मांगी और वापस बुलाने की अपील की. अशोक शर्मा ने युगांडा में बंधक बनाकर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. साथ ही बताया कि, उनके दस्तावेज भी ले लिए गए. और पुलिस से पकड़वाने की धमकी दी जा रही है.

जिले के सरधना तहसील इलाके के कस्बा करनावल निवासी अशोक शर्मा पुत्र राजकुमार ने 38 सेकेंड की एक वीडियो शेयर किया है. वीडियो में अशोक ने बताया कि, वह युगांडा में नौकरी करने गया था. वहां काम करने के दौरान कंपनी को उनका काम पसंद नहीं आया. जिसके चलते उसे प्रताड़ित किया जा रहा है. पुलिस के झूठे केस में गिरफ्तार करने की धमकी देकर उन्हें बंधक बनाया हुआ है. अशोक ने जब कंपनी के लोगों से भारत भेजने की बात कही तो, उन लोगों ने परेशान करना शुरू कर दिया है. अशोक ने यह भी बात कही कि, यूपी के अलावा उत्तराखंड, हरियाणा और बिहार के युवक भी गए हैं. युवक ने वीडियो में भावुक होते हुए भारत सरकार से देश वापस बुलाने की अपील की है.

वहीं, अशोक के भाई राहुल ने बताया कि, पांच मार्च को कुल सात लोग शुगर मिल में नौकरी करने गए थे. आरोप लगाया कि, खतौली निवासी एक युवक ने खुद को युगांडा की जीएस शुगर मिल का जीएम बताकर उन्हें नौकरी दिलाने की बात कहकर साथ ले गया था. अशोक के साथ उत्तर प्रदेश के कुल चार, उत्तराखंड, हरियाणा और बिहार से एक-एक युवक भी साथ गए थे.

अशोक ने परिजनों को बातचीत में कहा कि, सभी को एक कमरे में बंधक बनाकर प्रताड़ित किया जा रहा है. परिजनों से छोड़ने की एवज में पांच लाख रुपए मंगवाने का दबाव बनाया जा रहा है. अशोक ने बुधवार सुबह वीडियो परिजनों को भेजी थी. वहीं, वीडियो मिलने के बाद परिवार के सभी लोग चिंतित है. उन्होंने भी केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई है.

वहीं, राज्यसभा सांसद लक्ष्मीकांत वाजपेई ने विदेश मंत्रालय में पत्र लिखा है. जिसमें उन्होंने लिखा कि युगांडा में 7 भारतीय फंसे हैं. उन्हें वापस लाने का प्रयास किया जाए. मेरठ के करनावल निवासी अशोक शर्मा, पटना के मृत्युंजय कुमार, हरियाणा के ऋषि पाल, उत्तराखंड निवासी योगेंद्र कुमार, मुजफ्फरनगर के योगेश कुमार, सहारनपुर के जसवीर सिंह हैं. जिनको जीएस शुगर लिमिटेड ने भट्टी में झोंकने की धमकी दी गई है. इन लोगों के पासपोर्ट और दस्तावेज भी जब्त कर लिए हैं. जल्द से जल्द जीएस शुगर लिमिटेड से वार्ता कर इन लोगों को भारत वापस लाया जाए.

ये भी पढ़ें:दबंगों ने नाबालिग को दी तालिबानी सजा, चार घंटे तक बंधक बनाकर बेल्ट और डंडे से से पीटा

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.