दिल्ली में जन्मे राजा कृष्णमूर्ति अमेरिकी सीनेट का लड़ सकते हैं चुनाव

author img

By ETV Bharat Hindi Team

Published : Feb 22, 2024, 6:51 PM IST

Raja Krishanmurthy

Indo US MP to contest for US senate : भारतीय मूल के राजा कृष्णमूर्ति अमेरिकी सीनेट का चुनाव लड़ सकते हैं. उनका जन्म नई दिल्ली में हुआ था. एक मैगजीन ने दावा किया है कि उनके पास 1.44 करोड़ डॉलर का कैंपेन फंड है.

न्यूयॉर्क : एक शीर्ष अमेरिकी पत्रिका में भारतीय-अमेरिकी सांसद राजा कृष्णमूर्ति को 50 सर्वाधिक शक्तिशाली लोगों की सूची में रखा गया है. ऐसी खबरें सामने आ रही हैं कि कृष्णमूर्ति 2026 में अमेरिकी सीनेट के लिए चुनाव लड़ने की योजना बना रहे हैं.

नई दिल्ली में जन्मे और इलिनोइस में पले-बढ़े डेमोक्रेट को शिकागो मैगजीन की हेवी हिटर्स सूची में 24वां स्थान मिला था, जिसमें इलिनोइस के गवर्नर जेबी प्रित्जकर शीर्ष पर थे. 2016 में कांग्रेस के लिए चुने गए कृष्णमूर्ति अब अपने चौथे कार्यकाल में इलिनोइस के 8वें जिले का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं, जिसमें शिकागो के पश्चिम और उत्तर-पश्चिमी उपनगरों के साथ-साथ शहर का 41वां वार्ड भी शामिल है.

पत्रिका में कहा गया है, ''कृष्णमूर्ति की प्रचार निधि में 1.44 करोड़ अमेरिकी डॉलर हैं.'' पत्रिका के अनुसार, यह राशि इलिनोइस के किसी भी अन्य कांग्रेस प्रतिनिधि से तीन गुना अधिक है, और पूरी कांग्रेस में तीसरी सबसे बड़ी राशि है.

2022 में उन्होंने डेमोक्रेटिक उम्मीदवारों और डेमोक्रेटिक कांग्रेसनल कैंपेन कमेटी को 460,000 डॉलर का दान दिया. पत्रिका के अनुसार,''यदि डिक डर्बिन सेवानिवृत्त होते हैं, तो वह 2026 में सीनेट के लिए चुनाव लड़ सकते हैं. 79 वर्षीय डर्बिन अपने पांचवें सीनेट कार्यकाल में हैं और उन्होंने 2005 से सीनेट डेमोक्रेटिक व्हिप के रूप में कार्य किया है. डर्बिन की सीनेट सीट पर कृष्णमूर्ति के अलावा कई अन्य राजनेताओं की नजरें भी लगी हुई है.

राजनीतिक सलाहकार टॉम बोवेन का मानना ​​है कि कृष्णमूर्ति सीनेट की दौड़ की तैयारी के लिए धन जुटा रहे हैं, मगर उन्‍होंने इससे इनकार किया है. ट्रिब्यून से बात करते हुए, उन्होंने कहा, "सबसे पहले, मुझे उम्मीद है कि सीनेटर डर्बिन अपनी सीट पर बने रहेंगे। मैंने ऐसा कुछ भी नहीं सुना है कि वह सीट छोड़ रहे हैं. मैं अभी इस पर विचार नहीं कर रहा हूं.''

अमेरिकी कांग्रेस में 535 वोटिंग सदस्य, 100 सीनेटर और 435 प्रतिनिधि हैं। जबकि, सीनेटर अपने पूरे राज्य का प्रतिनिधित्व करते हैं, सदन के सदस्य व्यक्तिगत जिलों का प्रतिनिधित्व करते हैं. उपराष्ट्रपति कमला हैरिस वर्तमान में अमेरिकी सीनेट की अध्यक्षता करने वाली एकमात्र भारतीय-अमेरिकी हैं, और वह 2024 के चुनावों में राष्ट्रपति जो बिडेन के साथी के रूप में चुनाव लड़ेंगी. 2022 में देश के सबसे ध्रुवीकृत मध्यावधि चुनावों में से एक में कृष्णमूर्ति सहित पांच भारतीय-अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के लिए चुने गए.

ये भी पढ़ें : सत्ता में आई तो भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान के साथ संबंध मजबूत करूंगी: निक्की हेली

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.