ETV Bharat / international

खालिस्तानी आतंकी निज्जर की याद में कनाडा की संसद में रखा गया मौन, भारत ने भी दिया जवाब - Hardeep Singh Nijjar

author img

By ETV Bharat Hindi Team

Published : Jun 19, 2024, 5:39 PM IST

Canada Parliament Honours Hardeep Singh Nijjar: खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की पहली बरसी उसे श्रद्धांजिल देने के लिए कनाडा की संसद में मौन रखा गया. कनाडा के इस आतंकी प्रेम के जवाब में 1985 में एयर इंडिया के कनिष्क विमान में बम विस्फोट से मारे गए 329 पीड़ितों को श्रद्धांजलि देने के लिए स्मारक सेवा की घोषणा की. पढ़ें पूरी खबर.

Canada Parliament Honours Hardeep Singh Nijjar
खालिस्तानी आतंकी निज्जर को कनाडा की संसद में दी गई मौन श्रद्धांजलि (IANS)

ओटावा: कनाडा की जस्टिन ट्रूडो सरकार का खालिस्तानी आतंकियों के प्रति प्रेम को लेकर चेहरा बेनकाब हो गया है. कनाडा की संसद ने मंगलवार को खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की याद में एक मिनट का मौन रखा गया. भारत सरकार द्वारा आतंकी घोषित निज्जर की 18 जून, 2023 को कनाडा के सरे शहर में एक गुरुद्वारा के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, निज्जर की बरसी पर 18 जून को कनाडा के हाउस ऑफ कॉमन्स में कार्यवाही के अंत में स्पीकर ग्रेग फर्गस ने खड़े होकर घोषणा की कि सदन में सभी दलों के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा के बाद एक साल पहले आज ही के दिन ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के सरे में मारे गए हरदीप सिंह निज्जर की याद में मौन रखने पर सहमति बनी है. इसके बाद सदन के सभी सदस्य खड़े हुए और निज्जर की याद में एक मिनट का मौन रखा.

वहीं, कनाडा की संसद में आतंकवादी निज्जर को सम्मान देने के बाद वैंकूवर में भारतीय महावाणिज्य दूतावास ने 1985 में एयर इंडिया के कनिष्क विमान में विस्फोट से मारे गए 329 पीड़ितों को श्रद्धांजलि देने के लिए स्मारक सेवा की घोषणा की. भारतीय महावाणिज्य दूतावास ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा कि भारत आतंकवाद के खतरे का मुकाबला करने में सबसे आगे है और इस वैश्विक खतरे से निपटने के लिए सभी देशों के साथ मिलकर काम करता है. 23 जून 2024 को एयर इंडिया की उड़ान कनिष्क पर हुए कायरतापूर्ण आतंकवादी बम विस्फोट की 39वीं वर्षगांठ है. नागरिक उड्डयन के इतिहास में सबसे जघन्य आतंकवादी घटना में 86 बच्चों सहित 329 निर्दोष लोगों की जान चली गई थी.

एक अन्य पोस्ट में कहा गया कि 23 जून, 2024 को शाम 6:30 बजे स्टेनली पार्क के सेपरले प्लेग्राउंड क्षेत्र में एयर इंडिया मेमोरियल में स्मारक सेवा निर्धारित की गई है. वैंकूवर में भारतीय महावाणिज्य दूतावास आतंकवाद के खिलाफ एकजुटता दिखाने के लिए भारतीय प्रवासियों को इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करता है.

भारत की 'मोस्ट वांटेड' आतंकियों की सूची में था निज्जर
निज्जर भारत विरोधी और अलगाववादी संगठन खालिस्तान टाइगर फोर्स (केटीएफ) का प्रमुख था. भारत विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने निज्जर को 'मोस्ट वांटेड' आतंकियों की सूची में शामिल किया था. भारत ने निज्जर को गिरफ्तार करवाने पर 10 लाख रुपये का नकद इनाम घोषित किया था.

ट्रूडो ने लगाया था निज्जर की हत्या में भारत के शामिल होने का आरोप
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने निज्जर की हत्या में भारत की संलिप्तता का आरोप लगाया था, जिसके बाद दोनों देशों के बीच कूटनीतिक तनाव पैदा हो गया. 18 सितंबर, 2023 को हाउस ऑफ कॉमन्स में अपने भाषण में कनाडाई प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो ने कहा था कि कनाडा की सुरक्षा एजेंसियां भारत सरकार के एजेंटों और कनाडाई नागरिक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बीच संभावित संबंध के विश्वसनीय आरोपों की जांच कर रही हैं. उन्होंने कहा था कि कनाडा की धरती पर एक कनाडाई नागरिक की हत्या में किसी विदेशी सरकार की संलिप्तता हमारी संप्रभुता का अस्वीकार्य उल्लंघन है. हालांकि, भारत ने ट्रूडो के इन आरोपों का खंडन किया था और कनाडा में किसी भी तरह की हिंसा में भारत सरकार की संलिप्तता के आरोप बेतुका बताया था.

यह भी पढ़ें- रूस और उत्तर कोरिया के बीच बड़ा समझौता, हमला होने पर दोनों मिलकर देंगे जवाब

ओटावा: कनाडा की जस्टिन ट्रूडो सरकार का खालिस्तानी आतंकियों के प्रति प्रेम को लेकर चेहरा बेनकाब हो गया है. कनाडा की संसद ने मंगलवार को खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की याद में एक मिनट का मौन रखा गया. भारत सरकार द्वारा आतंकी घोषित निज्जर की 18 जून, 2023 को कनाडा के सरे शहर में एक गुरुद्वारा के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, निज्जर की बरसी पर 18 जून को कनाडा के हाउस ऑफ कॉमन्स में कार्यवाही के अंत में स्पीकर ग्रेग फर्गस ने खड़े होकर घोषणा की कि सदन में सभी दलों के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा के बाद एक साल पहले आज ही के दिन ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के सरे में मारे गए हरदीप सिंह निज्जर की याद में मौन रखने पर सहमति बनी है. इसके बाद सदन के सभी सदस्य खड़े हुए और निज्जर की याद में एक मिनट का मौन रखा.

वहीं, कनाडा की संसद में आतंकवादी निज्जर को सम्मान देने के बाद वैंकूवर में भारतीय महावाणिज्य दूतावास ने 1985 में एयर इंडिया के कनिष्क विमान में विस्फोट से मारे गए 329 पीड़ितों को श्रद्धांजलि देने के लिए स्मारक सेवा की घोषणा की. भारतीय महावाणिज्य दूतावास ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा कि भारत आतंकवाद के खतरे का मुकाबला करने में सबसे आगे है और इस वैश्विक खतरे से निपटने के लिए सभी देशों के साथ मिलकर काम करता है. 23 जून 2024 को एयर इंडिया की उड़ान कनिष्क पर हुए कायरतापूर्ण आतंकवादी बम विस्फोट की 39वीं वर्षगांठ है. नागरिक उड्डयन के इतिहास में सबसे जघन्य आतंकवादी घटना में 86 बच्चों सहित 329 निर्दोष लोगों की जान चली गई थी.

एक अन्य पोस्ट में कहा गया कि 23 जून, 2024 को शाम 6:30 बजे स्टेनली पार्क के सेपरले प्लेग्राउंड क्षेत्र में एयर इंडिया मेमोरियल में स्मारक सेवा निर्धारित की गई है. वैंकूवर में भारतीय महावाणिज्य दूतावास आतंकवाद के खिलाफ एकजुटता दिखाने के लिए भारतीय प्रवासियों को इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करता है.

भारत की 'मोस्ट वांटेड' आतंकियों की सूची में था निज्जर
निज्जर भारत विरोधी और अलगाववादी संगठन खालिस्तान टाइगर फोर्स (केटीएफ) का प्रमुख था. भारत विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने निज्जर को 'मोस्ट वांटेड' आतंकियों की सूची में शामिल किया था. भारत ने निज्जर को गिरफ्तार करवाने पर 10 लाख रुपये का नकद इनाम घोषित किया था.

ट्रूडो ने लगाया था निज्जर की हत्या में भारत के शामिल होने का आरोप
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने निज्जर की हत्या में भारत की संलिप्तता का आरोप लगाया था, जिसके बाद दोनों देशों के बीच कूटनीतिक तनाव पैदा हो गया. 18 सितंबर, 2023 को हाउस ऑफ कॉमन्स में अपने भाषण में कनाडाई प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो ने कहा था कि कनाडा की सुरक्षा एजेंसियां भारत सरकार के एजेंटों और कनाडाई नागरिक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बीच संभावित संबंध के विश्वसनीय आरोपों की जांच कर रही हैं. उन्होंने कहा था कि कनाडा की धरती पर एक कनाडाई नागरिक की हत्या में किसी विदेशी सरकार की संलिप्तता हमारी संप्रभुता का अस्वीकार्य उल्लंघन है. हालांकि, भारत ने ट्रूडो के इन आरोपों का खंडन किया था और कनाडा में किसी भी तरह की हिंसा में भारत सरकार की संलिप्तता के आरोप बेतुका बताया था.

यह भी पढ़ें- रूस और उत्तर कोरिया के बीच बड़ा समझौता, हमला होने पर दोनों मिलकर देंगे जवाब

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.