हल्द्वानी हिंसा में 5 हजार लोगों पर मुकदमा दर्ज, 19 नामजद में से 5 अरेस्ट, उपद्रवियों पर लगेगा NSA

author img

By ETV Bharat Uttarakhand Team

Published : Feb 9, 2024, 7:57 PM IST

Updated : Feb 9, 2024, 8:18 PM IST

Uttarakhand Police Haldwani violence

Uttarakhand Haldwani violence उत्तराखंड हल्द्वानी हिंसा में पुलिस ने पांच हजार अज्ञात और 19 लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया है. नामजद में से पांच लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है. वहीं डीजीपी अभिनव कुमार ने स्पष्ट किया है कि उपद्रवियों पर एनएसए (national security law) भी लगाया जाएगा. ताकी वो भविष्य में इस तरह की हरकत न कर सकें.

हल्द्वानी: नैनीताल जिले के हल्द्वानी में गुरुवार 8 फरवरी को भड़की हिंसा की आग में मृतकों की संख्या बढ़कर पांच हो गई है. वहीं तीन लोग गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे है, जिनका सुशील तिवारी हॉस्पिटल में उपचार चल रहा है. हालांकि इस हिंसा में 300 से ज्यादा लोगों को चोटें आई हैं. वहीं पुलिस ने पांच हजार अज्ञात और 19 लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया है, जिसमें से पांच लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है. इसी के साथ डीजीपी अभिवन कुमार ने भी स्पष्ट किया है कि सख्त से खख्त कार्रवाई करते हुए उपद्रवियों के खिलाफ एनएसए (national security law) लगाया जाएगा.

सीएम धामी पहुंचे हल्द्वानी: शुक्रवार शाम को हल्द्वानी पहुंचकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी घायलों का हाल जाना और अधिकारियों के साथ हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर हल्द्वानी के ताजा हालात की जानकारी ली. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के साथ मुख्य सचिव राधा रतूड़ी और डीजीपी अभिनव कुमार की हल्द्वानी पहुंचे थे.

वहीं, डीजीपी अभिनव कुमार ने बताया कि पुलिस की पहली प्राथमिकता शहर के हालात सामान्य करने की है, उम्मीद है कि अगले 24 घंटे में सब कुछ पहले की तरह सामान्य हो जाएगा. इसके बाद पुलिस का काम हल्द्वानी में हिंसा भड़काने वाले उपद्रवियों, पुलिस पर पथराव करने वाले, शहर में पेट्रोल बम फेंककर आगजनी करने वाले और फायरिंग करने वाले लोगों को चिन्हिंत करना है.

उपद्रवियों पर लगेगा NSA: डीजीपी अभिनव कुमार ने साफ किया है कि उपद्रवियों के खिलाफ सख्त से खख्त कार्रवाई की जाएगी, ताकी भविष्य में वो इस तरह की हरकत न कर सके. आरोपियों के खिलाफ एनएसए (national security law) भी लगाया जाएगा.

शासन की पहली कोशिश शांति व्यवस्था बहाल करना: वहीं, हल्द्वानी के ताजा हालात पर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने भी जानकारी दी. उन्होंने बताया कि हल्द्वानी पहुंचकर उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक की. सरकार की सबसे पहली कोशिश शांति व्यवस्था बहाल करना है. जल्द से जल्द हल्द्वानी में स्थिति सामान्य की जाएगी. मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने मीडिया के जरिए लोगों से अपील की है कि वो किसी भी तरह की अफवाह न फैलाए.

क्यों जल उठा था हल्द्वानी: बता दें कि गुरुवार को प्रशासन और नगर निगम हल्द्वानी की संयुक्त टीम बनभूलपुरा थाना क्षेत्र में 'मलिक का बगीचा' इलाके में अवैध मदरसा और धार्मिक स्थल को तोड़ने पहुंची थी. जैसे ही संयुक्त टीम ने अवैध इमारत को तोड़ना शुरू किया तो स्थानीय लोगों ने प्रशासन और नगर निगम हल्द्वानी की टीम पर पथराव करना शुरू कर दिया.

उपद्रवियों ने थाने को जलाने का किया था प्रयास: नैनीताल जिलाधिकारी वंदना सिंह ने बताया कि मौके पर मौजूद पुलिस टीम ने लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वो किसी की भी सुनने को तैयार नहीं थे, जिसके बाद वहां हालात बिगड़ते चले गए. नैनीताल जिलाधिकारी वंदना सिंह के मुताबिक उपद्रवियों ने बनभूलपुरा थाने को घेरकर वहां भी आग लगाने का भी प्रयास किया. उपद्रवियों ने थाने के बाहर खड़े वाहनों में आग भी लगा दी थी.

शहर में कर्फ्यू अभी भी लागू: इसके अलावा भी उपद्रवियों ने इलाके में कई और जगहों पर आगजनी की, जिससे शहर का माहौल तनावपूर्ण हो गया था. इसके बाद गुरुवार शाम को ही प्रशासन ने हल्द्वानी के बनभूलपुरा थाना क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया और उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश दिए थे.

पढ़ें--

Last Updated :Feb 9, 2024, 8:18 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.