ETV Bharat / bharat

जीवनभर नहीं भूलेंगे दहशत के वो पल... आतंकियों ने 10 मिनट तक बरसाईं गोलियां, जम्मू आतंकी हमले की आंखोंदेखी - Jammu Reasi terrorist attack

author img

By ETV Bharat Uttar Pradesh Team

Published : Jun 13, 2024, 2:19 PM IST

Updated : Jun 13, 2024, 3:24 PM IST

जम्मू के रियासी में तीर्थयात्रियों की बस पर आतंकियों ने हमला कर दिया था. इसमें बलरामपुर के दो लोगों की मौत हो गई. जबकि गोंडा के एक ही परिवार के 8 लोग घायल हो गए. घर लौटने के बाद उन्होंने आपबीती सुनाई.

घायलों ने बताई आपबीती.
घायलों ने बताई आपबीती. (PHOTO Credit; Etv Bharat)

गोंडा : जम्मू के रियासी इलाके में आतंकियों ने तीर्थयात्रियों से भरी बस पर हमला कर दिया था. घटना 9 जून को हुई थी. हमले में बलरामपुर के 2 लोगों की मौत हो गई. वहीं गोंडा के रहने वाले एक ही परिवार के 8 लोग घायल हो गए. सभी घायलों का इलाज जम्मू के अस्पतालों में भर्ती कराया गया. जम्मू से बलरामपुर के अनुराग और रूबी के शव ट्रेन से गोंडा पहुंचे. दोनों के शवों को एंबुलेंस से बलरामपुर भेजा गया. इसके अलावा घटना में घायल गोंडा के मसकनवा निवासी देवी प्रसाद गुप्ता, उनकी पत्नी नीलम गुप्ता, बेटा प्रिंस गुप्ता, बेटी पलक गुप्ता भी गोंडा पहुंचे. उन्हें घर पहुंचाया गया. घटना में मृतकों के परिजनों को सरकार ने 10-10 लाख रुपये व घायलों को 50-50 हजार की आर्थिक सहायता दी है. घायलों ने ईटीवी भारत से बातचीत में दहशत में बीते उन पलों के बारे में विस्तार से जानकारी दी.

नीलम गुप्ता घटना को यादकर सहम जाती हैं. (VIDEO Credit; Etv Bharat)

घटना में घायल नीलम गुप्ता ने बताया कि हम लोग शिवखोड़ी से दर्शन करके वापस लौट रहे थे. बस में कम से कम 45 से 50 लोग थे. हम सब बातें करते हुए माता के जयकारे लगा रहे थे. इसी बीच अचानक गोलियां चलने की आवाज सुनाई देने लगीं. सभी लोग अपनी जान बचाने के लिए नीचे झुक गए. पता चला कि आतंकवादियों ने हमला कर दिया है. गोली चलती रही लेकिन ड्राइवर ने बस नहीं रोकी. इस पर आतंकवादियों ने बस ड्राइवर को गोली मार दी. इससे बस अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई. हम लोग बस की खिड़की से बाहर निकले. करीब 10 मिनट तक फायरिंग होती रही.

देवी प्रसाद गुप्ता बोले-वह बुरा सपना था, हमेशा याद रहेगा. (VIDEO Credit; Etv Bharat)

घायल देवी प्रसाद गुप्ता ने बताया कि हम लोग शिवखोड़ी से दर्शन करके लौट रहे थे. हम लोग करीब 5-6 किलोमीटर ही आए थे. तभी आतंकियों ने हमला कर दिया. गोली चलने से बस 120 फीट गहरी खाई में गिर गई. आतंकी बस के ऊपर ताबड़तोड़ गोलियां चला रहे थे. हमारे परिवार से पत्नी, बेटा, बेटी, जीजा, दीदी, दोस्त, साला घायल हो गए. ट्रेन से हम लोग घर पहुंचे. हम, पत्नी और बेटा और बेटी आए हैं. 4 अन्य का अस्पताल में इलाज चल रहा है. पत्नी के पैर में फैक्चर हो गया है. जब आतंकी चले गए तो स्थानीय लोग और पुलिस पहुंची. हम लोग को रेस्क्यू कर अस्पताल पहुंचाया.

बलरामपुर के सदर विधायक पलटूराम ने बताया कि यह घटना बहुत ही निंदनीय है. आतंकवादियों द्वारा जिस तरीके से बेकसूर लोगों की हत्या की गई है, वह गलत है. हम परिवार के प्रति अपनी शोक संवेदना व्यक्त करते हैं. आतंकवादियों पर कार्रवाई को लेकर सूचना मिली है कि हमारे भारतीय सेना के जवानों ने इस घटना में शामिल आतंकियों को मार गिराया है. पीएम नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद को जड़ से समाप्त करने का संकल्प लिया है.

यह भी पढ़ें : कानपुर मेडिकल कॉलेज की बिल्डिंग से गिरकर लेडी डॉक्टर की मौत, बरेली की रहने वाली थी; हत्या, आत्महत्या या हादसा?

गोंडा : जम्मू के रियासी इलाके में आतंकियों ने तीर्थयात्रियों से भरी बस पर हमला कर दिया था. घटना 9 जून को हुई थी. हमले में बलरामपुर के 2 लोगों की मौत हो गई. वहीं गोंडा के रहने वाले एक ही परिवार के 8 लोग घायल हो गए. सभी घायलों का इलाज जम्मू के अस्पतालों में भर्ती कराया गया. जम्मू से बलरामपुर के अनुराग और रूबी के शव ट्रेन से गोंडा पहुंचे. दोनों के शवों को एंबुलेंस से बलरामपुर भेजा गया. इसके अलावा घटना में घायल गोंडा के मसकनवा निवासी देवी प्रसाद गुप्ता, उनकी पत्नी नीलम गुप्ता, बेटा प्रिंस गुप्ता, बेटी पलक गुप्ता भी गोंडा पहुंचे. उन्हें घर पहुंचाया गया. घटना में मृतकों के परिजनों को सरकार ने 10-10 लाख रुपये व घायलों को 50-50 हजार की आर्थिक सहायता दी है. घायलों ने ईटीवी भारत से बातचीत में दहशत में बीते उन पलों के बारे में विस्तार से जानकारी दी.

नीलम गुप्ता घटना को यादकर सहम जाती हैं. (VIDEO Credit; Etv Bharat)

घटना में घायल नीलम गुप्ता ने बताया कि हम लोग शिवखोड़ी से दर्शन करके वापस लौट रहे थे. बस में कम से कम 45 से 50 लोग थे. हम सब बातें करते हुए माता के जयकारे लगा रहे थे. इसी बीच अचानक गोलियां चलने की आवाज सुनाई देने लगीं. सभी लोग अपनी जान बचाने के लिए नीचे झुक गए. पता चला कि आतंकवादियों ने हमला कर दिया है. गोली चलती रही लेकिन ड्राइवर ने बस नहीं रोकी. इस पर आतंकवादियों ने बस ड्राइवर को गोली मार दी. इससे बस अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई. हम लोग बस की खिड़की से बाहर निकले. करीब 10 मिनट तक फायरिंग होती रही.

देवी प्रसाद गुप्ता बोले-वह बुरा सपना था, हमेशा याद रहेगा. (VIDEO Credit; Etv Bharat)

घायल देवी प्रसाद गुप्ता ने बताया कि हम लोग शिवखोड़ी से दर्शन करके लौट रहे थे. हम लोग करीब 5-6 किलोमीटर ही आए थे. तभी आतंकियों ने हमला कर दिया. गोली चलने से बस 120 फीट गहरी खाई में गिर गई. आतंकी बस के ऊपर ताबड़तोड़ गोलियां चला रहे थे. हमारे परिवार से पत्नी, बेटा, बेटी, जीजा, दीदी, दोस्त, साला घायल हो गए. ट्रेन से हम लोग घर पहुंचे. हम, पत्नी और बेटा और बेटी आए हैं. 4 अन्य का अस्पताल में इलाज चल रहा है. पत्नी के पैर में फैक्चर हो गया है. जब आतंकी चले गए तो स्थानीय लोग और पुलिस पहुंची. हम लोग को रेस्क्यू कर अस्पताल पहुंचाया.

बलरामपुर के सदर विधायक पलटूराम ने बताया कि यह घटना बहुत ही निंदनीय है. आतंकवादियों द्वारा जिस तरीके से बेकसूर लोगों की हत्या की गई है, वह गलत है. हम परिवार के प्रति अपनी शोक संवेदना व्यक्त करते हैं. आतंकवादियों पर कार्रवाई को लेकर सूचना मिली है कि हमारे भारतीय सेना के जवानों ने इस घटना में शामिल आतंकियों को मार गिराया है. पीएम नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद को जड़ से समाप्त करने का संकल्प लिया है.

यह भी पढ़ें : कानपुर मेडिकल कॉलेज की बिल्डिंग से गिरकर लेडी डॉक्टर की मौत, बरेली की रहने वाली थी; हत्या, आत्महत्या या हादसा?

Last Updated : Jun 13, 2024, 3:24 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.