जबलपुर में बिग बॉस विनर मुनव्वर फारुकी से मारपीट, जानिये वायरल वीडियो की सच्चाई

author img

By ETV Bharat Madhya Pradesh Team

Published : Feb 28, 2024, 9:54 AM IST

comedian munawar faruqui

Jabalpur Munawar Faruqui Video Viral: बिग बॉस 17 के विनर मुनव्वर फारुकी के साथ मारपीट का एक वीडियो सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है. बताया जा रहा है कि यह वीडियो मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर का है. हालांकि पुलिस ने इस वीडियो को फेक बताया है.

जबलपुर में बिग बॉस विनर मुनव्वर फारुकी से मारपीट

जबलपुर। बिग बॉस 17 के विनर मुनव्वर फारुकी का एक वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म 'X' पर जमकर वायरल हो रहा है. इस वीडियो को जबलपुर का बता कर वायरल किया जा रहा है. जिसमें मुनव्वर फारूकी के साथ हिंदू देवताओं के अपमान के कारण मारपीट की गई है. इस वीडियो में सैकड़ों की संख्या में लोग दिखाई दे रहे हैं और बेल्ट से मारपीट कर रहे हैं. इस वीडियो को लेकर कई तरह की टिप्पणी भी की जा रही है. एक यूजर से लिखा है कि यह वीडियो करीब 2 साल पुराना है और इंदौर शहर का है. तो वहीं दूसरी यूजर ने लिखा है कि जबलपुर में कॉमेडी किंग मुनव्वर फारूकी के साथ जमकर मारपीट की गई है.

मुनव्वर पर हिंदू देवी देवताओं के अपमान का आरोप

सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल किया जा रहा है, इस वीडियो के अनुसार बिग बॉस विनर मुनव्वर फारूकी की पिटाई की गई. उन्होंने हिंदू देवी देवताओं पर अभद्र टिप्पणी की थी. जिसके बाद लोगों ने उन्हें बेल्ट से पीटा और रेस्टोरेंट के बाहर भागा दिया. हालांकि यह किस रेस्टोरेंट का है और घटना कब की है इस संबंध में कोई स्पष्ट जानकारी शेयर नहीं की गई है. इस संबंध में जब पुलिस विभाग के अधिकारियों से जानकारी ली गई तो उन्होंने इस तरह की किसी भी घटना से इनकार किया है. Comedian Munawar Faruqui

Also Read:

सावधान! एमपी बोर्ड के 10वीं व 12वीं के पेपर बेचने के ग्रुप सोशल मीडिया पर, ऐसे पकड़ में आए ठग

J&K पॉलिटिक्सः नरोत्तम के निशाने पर दिग्विजय, कहा- 'राजा साहब' थोड़ा फैक्ट चेक कर लेते

तालिबानी सजा का वीडियो वायरल कर बुरे फंसे जीतू पटवारी, जबलपुर पुलिस करेगी बड़ी कार्रवाई

पुलिस ने बताया फेक वीडियो

वहीं, पूरे मामले में एएसपी सूर्यकांत शर्मा का कहना है कि ''उन्हें इस वीडियो के संबंध में कोई जानकारी नहीं है और न ही ऐसी कोई घटना जबलपुर में हुई है. किसी ने गलत जानकारी के साथ वीडियो शेयर किया है.'' एएसपी ने यह भी कहा कि ''इस तरह के भ्रामक वीडियो वायरल करना आपराधिक कृत्य है, बिना जानकारी और पुष्टि के किसी को भी वीडियो शेयर नहीं करना चाहिए.'' गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर यूजर्स अपने फॉलोअर्स और व्यूज बढ़ाने के लिए फर्जी और सेंसेशनल कंटेंट शेयर कर देते हैं, हालांकि यह अपराध है. बहरहाल पुलिस अधिकारियों ने फर्जी वीडियो शेयर करने वालों के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही है.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.